औचक निरीक्षण करने अस्‍पताल पहुंचे कलेक्‍टर ने डॉक्‍टर से कहा- इसी वक्‍त करो मरीजों की सोनोग्राफी

Advertisements

कटनी। कलेक्टर के व्ही एस चौधरी आज निरीक्षण के लिए जिला चिकित्सालय पहुंचे तो उनका सामना अव्यवस्थाओं से हो गया। कहीं डॉक्टर नहीं मिले तो कहीं सोनोग्राफी की जांच नहीं हो रही थी। कलेक्टर ने आज निरीक्षण के दौरान ओपीडी से लेकर एक-एक कमरे में जाकर बारीकी से जांच की। इस दौरान उन्होंने मरीजों से बात भी की और तत्काल उनकी समस्याओं का समाधान किया।

ओपीडी स्थित सोनोग्राफी सेंटर में करीब आधा सैकड़ा मरीजों की लाइन देखकर कलेक्टर ने सिविल सर्जन डॉ. एस के शर्मा से इस संबंध में जानकारी ली तो पता चला कि सोनोग्राफी करने वाले डॉक्टर अठ्या पेशी पर कोर्ट गए हैं, जिस पर कलेक्टर के व्ही एस चौधरी ने तत्काल उन्हें फोन लगाकर बात कराने के लिए कहा। सिविल सर्जन डॉ. शर्मा ने डॉ. अठ्या से कलेक्टर की बात कराई।

कलेक्टर ने डॉ. अठ्या से कहा कि इसी वक्त हॉस्पिटल आकर मरीजों की सोनोग्राफी करिए और कोर्ट की पेशी 3 बजे के बाद अटेंड करिए। बताया जाता है कि जिला चिकित्सालय में सोनोग्राफी के लिए केवल एक ही डॉक्टर है और आज वो भी कोर्ट की पेशी पर चले गए। जिससे यहां सोनोग्राफी करवाने वाले मरीजों की लाइन लग गई। इसमे बड़ी संख्या में गर्भवती महिलाएं रहीं।
तीन लेडी डॉक्टर लेकिन ड्यूटी पर एक
कलेक्टर श्री चौधरी ओपीडी का निरीक्षण करते हुए जब पैथालॉजी लैब की ओर जा रहे थे, तभी कुछ गर्भवती महिलाओं ने उनसे शिकायत करते हुए कहा कि जिला चिकित्सालय में तीन लेडी डॉक्टर हैं लेकिन ड्यूटी पर एक ही लेडी डॉक्टर हैं, जिससे गर्भवती महिलाएं सुबह से लाइन में लगी हुई है। जिस पर कलेक्टर ने सिविल सर्जन डॉ. शर्मा को ओपीडी के दौरान लेडी डॉक्टरों को मौजूद रहने के निर्देश दिए।

Advertisements