Advertisements

टॉपर गैंगरेप मामला : दोषियों को पकड़वाने वाले को पुलिस देगी एक लाख का ईनाम

भोपाल। प्रदेश ही नहीं पूरे देश को शर्मसार कर देने वाली रेवाड़ी महागैंगरेप की घटना को लेकर भले ही एसआईटी का गठन कर दिया गया हो और पुलिस विभाग गैंगरेप के दोषियों को पकड़ने के दावे करते नहीं थक रहा हो, लेकिन उसके बावजूद पुलिस के हाथ खाली के खाली ही है।
मामले की गंभीरता को देख एसआईटी की जांच SP मेवात नाजनीन भसीन आज सुबह सवेरे रेवाड़ी के नागरिक अस्पताल पहुंची। जहां उन्होंने पीड़िता का हाल जानने के बाद पत्रकारों से रूबरू होते हुए कहा कि अगले 2 घंटों में बड़ा खुलासा करेंगी। लेकिन पत्रकारवार्ता के दौरान सिवाय आरोपियों को पकड़ने वालों को एक लाख के ईनाम देने और लोगों से अपील की घोषणा के अलावा कुछ नहीं मिला।
इतना बड़ा अमलीजामा और सुरक्षा तंत्र होने के बावजूद हरियाणा की स्मार्ट पुलिस इस मामले में नाकाम साबित हुई। पुलिस के हाथ 78 घंटे बीतने के बावजूद दरिंदों तक नहीं पहुंच पाए। एडीजीपी दफ्तर में पत्रकारों से बातचीत करते हुए SP नाजनीन भसीन ने कहा कि वारदात के तुरंत बाद रेवाड़ी SP द्वारा रेडिंग पार्टी गठित कर वारदात को अंजाम देने वालों की तलाश की जा रही है। मामले की तह तक जाने के लिए पुलिस हर संभव कोशिश में लगी हुई है।
जहां तक पीड़िता का सवाल है तो बहरहाल उसकी हालत सामान्य है। इस वारदात में एक आर्मी पर्सन के शामिल होने की के सवाल पर उन्होंने कहा कि उसकी भी जांच की जा रही है। गांव में हुई गैंगरेप की दूसरी घटना को लेकर भी पुलिस गंभीर है। इस मामले में भी भी गांव में जाकर घटना की तह तक पहुंची पहुंचेगी और दोषियों को किसी सूरत में बख्शा नहीं जाएगा। उन्होंने एक बार फिर दावा किया कि आरोपियों को जल्द गिरफ्तार कर लिया जाएगा।
वहीं उन्होंने आम लोगों से अपील की कि अगर उन्हें इस वारदात से संबंधित कोई भी सूचना मिलती है तो तुरंत पुलिस को सूचित करें। अब देखना होगा कि बेटियों की सुरक्षा को लेकर लंबे चौड़े दावे करने वाली खट्टर सरकार के यह सिपाही हवस के अंदर-अंदर तक कब तक पहुंच पाते हैं या फिर सरकार को किसी दूसरी घटना का इंतजार करना पड़ेगा।