इस महिला का दावा है कि वह अपनी जीभ से लोगों का अंधापन दूर कर सकती है। कहा जा रहा है कि यह दुनिया की इकलौती महिला हैं जिनके पास ऐसी शक्तियां हैं। इसके लिए वह 10 यूरो यानी लगभग 750 रुपए भी लेती हैं। वह अपनी जीभ से लोगों की आंखों में पड़ी धूल-मिट्टी, गंदगी, धातु और कांच तक को बाहर निकाल देती है। इस शक्ति को बरकरार रखने के लिए यह महिला अपनी जीभ को शराब से साफ करती है।

हावा का कहना है कि दुनिया में बहुत कम ही लोग यह अद्भुत क्षमता रखते हैं यानी की जिनकी जीभ में यह क्षमता होती है। वह इस बात से निराश हैं कि इस कला को उनकी अगली पीढ़ी अपनाना नहीं चाहती, क्योंकि वे इसे गंदा काम समझते हैं। नाना हावा कहती है, ‘मैंने एक औरत से यह कला सीखी है। दुर्भाग्यवश, मैं इसे अपने वंशजों को नहीं दे सकती, क्योंकि मेरे बच्चे किसी की आंख में अपनी जीभ डालना घृणित समझते हैं। मुझे बताया गया है कि जब लोग मरेंगे, तब लोग मेरी जीभ को काट देंगे, ताकि गांव लोगों के साथ इलाज कर सके।’