Advertisements

NSA चीफ अजित डोभाल ने गया में किया पूर्वर्जों का पिंडदान

गया। राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (NSA) अजीत डोभाल शनिवार को परिवार के साथ नालंदा से गया पहुंचे। पत्नी अनु डोभाल भी उनके साथ मौजूद रहीं। उन्‍होंने रविवार को विष्णुपद में अपने समस्‍त पूर्वजों की आत्‍मा की शांति के लिए पिंडदान किया। डाेभाल के आगमन पर सुरक्षा की पुख्ता व्यवस्था की गई है। उन्‍होंने गया के आफिसर्स ट्रेनिंग एकेडमी में रात्रि विश्राम किया।


गया के पुरोहित राजन सिजुआर ने पिंडदान कराया। पिंडदान के बाद डोभाल ने फल्गु नदी में पिंड का विसर्जन किया। डोभाल ने माड़नपुर स्थित वट वृक्ष (अक्षयवट) को साक्षी मानकर पिंडदान के कर्मकांडों का सुफल लिया।

महाबोधि मंदिर में की पूजा

पिंडदान के बाद डोभाल बोधगया में महाबोधि मंदिर में पूजा-अर्चना करने गए। इसके बाद वे गया अंतरराष्‍ट्रीय हवाई अड्डा से विशेष विमान से दिल्ली के लिए रवाना हो जाएंगे।
विदित हो कि राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल शनिवार को पत्‍नी के साथ निजी यात्रा पर बिहार आए हैं। शनिवार की सुबह वे पटना एयरपाेर्ट पहुंचे। वहां से वे गया-राजगीर के लिए रवाना हो गए। पटना एयरपोर्ट पर उन्‍होंने करीब 30 मिनट तक डीजीपी केएस द्विवेदी से बात की।

दोनों अधिकारियों की बातचीत गोपनीय रही, हालांकि कयास लगाए जा रहे हैं कि इसमें नक्सलवाद व संगथ्‍ठत अपराध के खिलाफ बिहार पुलिस और केंद्रीय सुरक्षा बलों के संयुक्त अभियान की बाबत चर्चा हुई।