दरअसल, ग्रेग के कुत्ते ने प्यार से अपने मालिक को चाटा था। चाटने के दौरान खतरनाक बैक्टीरिया मालिक के खून में चले गए। यह कीटाणु इतनी तेजी से शरीर के अंदर गए कि उनके दोनों पैर और हाथ काटने पड़े। कुत्ते की लार में बैक्टीरिया होते हैं। जब भी कुत्ते की लार इंसान के खून से मिलती है तो बेहद खतरनाक इंफेक्शन होता है। इसी वजह से उनका ब्लड प्रेशर गिर जाता है और इसका असर उनके शरीर के अंगों पर भी पड़ने लगता है। ब्लड प्रेशर कम होने से हाथ-पैर काम करने बंद करते हैं। ऐसे में इंफेक्शन को बढ़ने से रोकने के लिए डॉक्टर्स को शरीर के अंगों को काटना पड़ता है।

इस हादसे से ग्रेग मोंटेउफुल की पत्नी डाउन पूरी तरह टूट गई। उनके मुताबिक मेरे पति ग्रेग एक बाइक राइडर हैं। उन्होंने अपनी जिंदगी का अधिकतर समय डॉग्स के साथ ही बिताया है। लेकिन उनकी वजह से वह इंफेक्शन से ग्रस्त हो गए हैं।

जब ग्रेग को अस्पताल में भर्ती करवाया तो उन्होंने डॉक्टर से सिर्फ एक बात कही, आप चाहें मेरे शरीर के अंग काट लिजिए लीजिए। मगर मुझे जिंदा रखिए। वह इस बात का शुक्रिया अदा करते हैं कि कम से कम वे जिंदा हैं। डॉ. जैफरी वेर्बर के मुताबिक ग्रेग की कहानी जानने के बाद ऐसा नहीं कि आप कुत्तों के साथ न रहें। ग्रेग के डॉक्टर के मुताबिक 99 प्रतिशत डॉग ओनर्स को इस तरह के हादसे से नहीं गुजरना होगा। इंफेक्शन के हमेशा कम चांसेस होते हैं।