भोपाल। प्रोफेशनल एग्जामिनेशन बोर्ड (पीईबी) एक बार फिर चपरासियों की भर्ती परीक्षा आयोजित कराने जा रहा है। इसके लिए पीईबी को सामान्य प्रशासन विभाग (जीएडी) से अनुमति मिल गई है। संभवतः यह परीक्षा अक्टूबर माह के अंतिम सप्ताह तक हो सकती है। जल्द ही इसका विज्ञापन जारी कर आवेदन आमंत्रित किए जाएंगे। तीन साल बाद चपरासियों के लिए यह भर्ती परीक्षा होने जा रही है। परीक्षा कराने के लिए करीब एक दर्जन विभाग से रिक्त पदों की जानकारी पीईबी के पास आ गई है।

तीन साल पहले जब परीक्षा आयोजित की गई थी, तब इंजीनियरिंग, बीए, एमए सहित पीएचडी डिग्री धारकों ने आवेदन किया था और परीक्षा भी दी थी। इसके बाद खूब बवाल मचा था, जिसे देखते हुए सामान्य प्रशासन विभाग ने परीक्षा पर एक साल तक के लिए रोक लगा दी थी। अब यह रोक हटा दी गई है वहीं, पीईबी को परीक्षा कराने के लिए हरी झंडी दे दी गई है।

यह तकनीकी समस्या आ रही थी सामने

पीईबी को ग्रुप 6 तक की भर्ती परीक्षा कराने की अनुमति है। ग्रुप 6 में शामिल होने के लिए भर्ती की योग्यता 10वीं पास होना अनिवार्य है, लेकिन चपरासी की भर्ती कराने की योग्यता सिर्फ आठवीं होती है। इसलिए पीईबी को परीक्षा कराने में तकनीकी समस्या हो रही थी। जिसके बाद उसने जीएडी से सुझाव मांगा था। इस पर तर्क यह दिया गया है कि पिछली बार भी पीईबी ने यह परीक्षा आयोजित की थी, इसलिए इस बार भी आयोजित की जा सकती है।

तीन साल पहले पीईबी अध्यक्ष ने लगाई थी रोक

तीन साल पहले तत्कालीन अध्यक्ष अरुणा शर्मा ने पीईबी की चपरासी की भर्ती परीक्षा पर रोक लगाई थी। उनका तर्क था कि चपरासी की परीक्षा के लिए पीएचडी और पीजी डिग्रीधारी तक आवेदन करते हैं। जबकि, योग्यता सिर्फ आठवीं तक होती है। पीएचडी या पीजी डिग्रीधारी परीक्षा कर विभाग में सेवा देने जाते हैं, तो उन्हें व्यवहारिक कठिनाई होती है। इससे वे नौकरी तक छोड़ देते हैं। वहीं आठवीं पास आवेदक परीक्षा की मेरिट सूची में स्थान हासिल नहीं कर पाते हैं।

स्वीकृति मिल गई है, जल्द होगी परीक्षा

परीक्षा कराने के लिए जीएडी (सामान्य प्रशासन विभाग) से स्वीकृति मिल गई है। जल्द ही परीक्षा का विज्ञापन जारी कर आवेदन आमंत्रित किए जाएंगे। अक्टूबर माह में यह परीक्षा आयोजित की जा सकती है – एसकेएस भदौरिया, परीक्षा नियंत्रक, पीईबी