Advertisements

रादुविवि कर्मचारी संघ में कोषाध्यक्ष को हटाने रची जा रही साजिश

जबलपुर। रानी दुर्गावती विश्वविद्यालय कर्मचारी संघ के वर्ष 2018-19 में हुये कर्मचारी संघ चुनाव में मनीष पाण्डेय कोषाध्यक्ष निर्वाचित हुये थे। कर्मचारी संघका चुनाव समिति द्वारा किया गया एवं मुझे निर्वाचित होने पर प्रमाण पत्र भी प्रदान किया गया

कुलपति तक पहुंची शिकायत

लेकिन पिछले कुछ दिनों से कर्मचारी संघ के अध्यक्ष एवं महासचिव द्वारा जबरन उन्हें कोषाध्यक्ष पद से हटाने की साजिश रची जा रही है। इस संबंध में कोषाध्यक्ष मनीष पाण्डेय ने कर्मचारी संघ के संरक्षक और रानी दुर्गावती विश्वविद्यालय के कुलपति को शिकायत पत्र लिखकर पूरी जानकारी से उन्हें अवगत कराया।

कोषाध्यक्ष ने कुलपति को की शिकायत में इसे नियम विरुद्ध एवं संविधान को नजर अंदाज करते हुये कोषाध्यक्ष का पद छीनने का लगातार प्रयत्न किया जा रहा है जो कि संविधान के विपरीत है। उक्त पद के लिये वर्तमान में कोषाध्यक्ष को दरकिनार करते हुये स्वयं अध्यक्ष एवं महासचिव लगातार बैंक में दबाव बना रहे एवं राशि मेरे हस्ताक्षर से चैक एवं राशि आहरण की जा रही है। जोकि संघ संविधान के खिलाफ है

क्योंकि मुझे 600 कर्मचारियों के द्वारा कोषाध्यक्ष का उत्तरदायित्व सौंपा गया है जिसे वर्तमान अध्यक्ष एवं महासचिव द्वारा गलत देयक प्रस्तुत कर मुझसे कराना चाहते हैं जिसमें मेरे द्वारा आपत्ति ली गई है। मैं आमसभा के द्वारा निर्णय लेना चाहता हूं कि उक्त देयक उचित है या अनुचित। जिस पर इन लोगों की सहमति नहीं प्रदान की जा रही है। विगत दो माह से इन पदाधिकारियों द्वारा जबर्दस्ती संघ कार्यालय में ताला लगा दिया गया है।

जिससे कर्मचारियों के कोष से संबंधित कार्य पूर्णतः बाधित हो रहे हैं। चूंकि कैश बुक, चैक बुक, सभी संबंधित दस्तावेज कार्यालय में बंद हैं। अतः संघ संरक्षक के नाते यह आपके संज्ञान में लाना चाहता हूं। कृपया कर उचित कार्यवाही करने का कष्ट करें।
कोषाध्यक्ष ने इलाहाबाद बैंक मैनेजर रादुविवि को पत्र लिखकर कहा है कि संघ संरक्षक के बगैर संघ के खाते की नई चैकबुक किसी भी प्रकार का चैक आहरण न किया जाये।