छत्तीसगढ़ की सीमा पर खरियार रोड व धमतरी में बहे युवकों का तलाश जारी है। गरियाबंद जिले के गोबरा नवापारा में महानदी का पानी भरने से पचास से अधिक मकान डूब गए हैं। महानदी के तटीय इलाकों में शिवरीनारायण तक अलर्ट कर दिया गया है। इधर गंगरेल बांध में जलभराव अधिक हो जाने से प्रवेश पर प्रतिबंध लगा दिया गया है।

इसे भी पढ़ें-  Navy Day 2021: अब दुश्मनों की खैर नहीं! नौसेना प्रमुख बोले-10 साल का रोडमैप तैयार, भारत के पास जल्द होंगी स्वदेशी-मानवरहित प्रणालियां

बारिश का नुकसान अब बढ़ता जा रहा है। कांकेर जिले के अंतागढ़ इलाके के ग्राम खड़गांव में बालक बुधुलाल (14) बाड़ी में मवेशियों को चारा देने गया था। इसी दौरान दीवार ढह जाने से वह मलबे में दब गया। इससे उसकी मौत हो गई। पिथौरा के धनोरा नाले में बहे युवक ग्राम घोंच निवासी पोषण दीवान का मंगलवार को शव मिला।

धमतरी के मेघा पुल में सेल्फी लेते हुए बहे युवक घनश्याम दुबे का पता नहीं चल पाया है। महासमुंद में छत्तीसगढ़ की सीमा से लगे खरियार रोड में जोंक नदी का पुल पार करते समय जीजा-साला बह गए। साला तैरकर निकल आया। जीजा बागबाहरा का कसेकेरा निवासी मैइकू तांडी लापता है।

इसे भी पढ़ें-  Omicron Variant: 58 साल पहले रिलीज हुई थी 'ओमिक्रॉन' नाम की फिल्म, कोरोना का नया वैरिएंट आने के बाद पोस्टर वायरल

रायपुर में महादेव घाट के पास चिंगरी नाले में बाइक सवार एक युवक बह गया। हालांकि कुछ दूर बहने के बाद सुरक्षित निकल आया। महानदी में गंगरेल से छोड़े जाने से बलौदाबाजार जिले में बाढ़ की स्थिति बन गई है। 25 गांवों में मुनादी कराई गई है। कसडोल तहसील के ग्राम अर्जुनी व पलारी के ग्राम अमेठी के 135 लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया।