स्कल्स स्पर्धा के फाइनल में स्थान दिलाने वाले दुष्यंत की बिगड़ी तबीयत, स्ट्रेचर पर ले जाए गए

Advertisements

नई दिल्लीः भारतीय खिलाड़ी दुष्यंत ने 18वें एशियाई खेलों के छठे दिन नौकायन में पुरुषों की लाइटवेट एकल स्कल्स स्पर्धा के फाइनल में तीसरा स्थान हासिल कर कांस्य पदक जीता।

उन्होंने फाइनल में स्पर्धा को समाप्त करने में 7 मिनट और 18.76 सेकेंड का समय निकाला। मेडल सेरेमनी के लिए जब वह स्टेज पर चढ़े तो अचानक गिर गए। वहां मौजूद लोग दुष्यंत को देखकर घबरा गए। इसके बाद दुष्यंत को स्ट्रेचर पर ले जाया गया।

 

दरअसल, दुष्यंत हाई ब्लड प्रेशर से परेशान थे, और पदक लेकर पोडियम से उतरने के बाद असहज महसूस कर रहे थे। दुष्यंत ने 2014 में भी एशियाई खेलों में इसी स्पर्धा में भारत को कांस्य पदक दिलाया था। हालांकि, इस बार उनका समय पिछले एशियाई खेलों से बेहतर है। उन्होंने इंचियोन में 2014 में हुए एशियाई खेलों में इस स्पर्धा को 7 मिनट और 26.27 सेकेंड में पूरा किया था।

इंचियोन में 2014 में हुए एशियाई खेलों में इस स्पर्धा का स्वर्ण पदक दक्षिण कोरिया के खिलाड़ी ह्यूनसु पार्क ने जीता। उन्होंने 7 मिनट और 12.86 सेकेंड का समय लिया। इसके अलावा, हांगकांग के चुन हिन चियु ने 7 मिनट और 14.16 सेकेंड का समय लेकर रजत पदक पर कब्जा जमाया। फिल्हाल मौजूदा समय में चल रहे एशियाई खेलों में भारत के अबतक 21 पदक हो चुके हैं।

Advertisements