डकैती की योजना बनाते 11 गिरफ्तार डेढ़ लाख रूपए सहित हथियार व कारतूस बरामद

Advertisements

कटनी। उपनगरीय क्षेत्र मंगलनगर से लगी रेलवे कालोनी के एक खंडहर रेल आवास में मुखबिरों की सूचना पर दबिश देकर रेल पुलिस ने ट्रेनों में चोरी व लूटपाट की योजना बना रहे 11 युवकोंं को गिरफ्तार किया है।

आरोपी युवकों के पास से डेढ़ लाख रूपए नगद सहित भारी मात्रा में घातक हथियार व कारतूस बरामद किए गए हैं। आरोपी युवकों में से अधिकांश उत्तर प्रदेश व बिहार के युवक हैं जो स्थानीय युवकों की मदद से किराए का मकान लेकर रहते थे और ट्रेनों में चोरी व लूटपाट की वारदातों को अंजाम योजना बनाकर देते थे।

आरोपी युवकों के द्धारा बीते दिनों कटनी स्टेशन के प्लेटफार्म क्रमांक 3 पर खड़ी डीएमयू ट्रेन में मैहर तक का सफर करने सवार हुए अंबिकापुर में पदस्थ वनकर्मी के ट्राली बैग से 3 लाख रूपए पार किए गए थे। जिसकी पतासाजी करते हुए रेल पुलिस आरोपियों तक पहुंच गई। जीआरपी थाना प्रभारी डीपी चड़ार ने बताया कि अधिकांश आरोपी मुरादाबाद के हैं और पिछले एक वर्ष से विलायतकला में विनोद रजक के मकान में अपने आप को रेलवे कर्मचारी बताकर किराए से रह रहे थे।

आरोपियों को गिरफ्तार करने के बाद कल मंगलवार को न्यायालय में पेश किया गया। इनमें से 9 आरोपियों की सात दिन की पुलिस रिमांड मिली है। रिमांड के दौरान आरोपियों से अन्य चोरी की वारदातों के संबंध में पूछताछ की जाएगी। जीआरपी को उम्मीद है कि अन्य चोरी की वारदातों का भी खुलासा हो सकता है। आरोपियों को पकड़ने वाली जीआरपी टीम को रेल पुलिस अधीक्षक ने पुरस्कृत करने की घोषणा की है।
बरही, बड़वारा व उप्र के मुरादाबाद निवासी हैं आरोपी
पकड़े गए आरोपियों में उत्तर प्रदेश के जिला मुरादाबाद निवासी जाकिर हुसैन, बाबू अहमद, राशिद अली, मुमत्याज, मोहम्मद इरशाद अली, फईम, बबुआ शेख, जानेआलम, नोमान, बड़वारा थाना अंतर्गत विलायत कला गांव निवासी रवि रजक, बरही थाना अंतर्गत छिंदिया गांव निवासी कृष्णकांत रजक बताए जा रहे हैं। आरोपियों को पकडने में टीआई डी.पी.चड़ार, एसआई राकेश पटैल, एएसआई एच.एन.त्रिवेदी, प्रधान आरक्षक विशन सिंह, महिला आरक्षक स्वाती तिवारी, मुकेश मिश्रा, राघवेन्द्र शर्मा, सत्येन्द्र सिंह, सूबेदार अखिलेश कुशवाहा, कौशलेन्द्र यादव, परशुराम यादव की भूमिका सराहनीय रही।
किराए पर रहकर करते थे वारदात
जीआरपी टीआई डीपी चड़ार ने बताया कि मुरादाबाद निवासी सभी आरोपी विलायत कला गांव में किराए के मकान में रहते थे। अपने आप को रेलवे कर्मचारी बताते थे। टीआई ने बताया कि पिछले एक वर्ष से आरोपियों द्वारा कटनी, सतना, मैहर स्टेशन के बीच ट्रेनों में चोरी की वारदात को अंजाम देते थे।
डिपॉजिट मशीन में जमा करते समय फंसे 22 हजार
आरोपियों के पास से 1 लाख 30 हजार रुपए नगद जप्त किए गए हैं। आरोपी चोरी की रकम को बैंक खाते में जमा कर देते थे। कैश डिपॉजिट मशीन में 22 हजार रुपए जमा करने के दौरान फंस गए हैं। जिसे भी बरामद करने के लिए बैंक प्रबंधन से पत्राचार किया जा रहा है।
डीएमयू ट्रेन से पार किए थे 3 लाख रुपए
16 अगस्त को अंबिकापुर निवासी वनकर्मी धीरेन्द्र कुमार चौबे के 3 लाख रुपए डीएमयू ट्रेन से आरोपियों ने पार कर दिया था। इसी चोरी की वारदात के 1 लाख 30 हजार रुपए जीआरपी ने बरामद किए हैं। जीआरपी टीआई ने बताया कि आरोपियों द्वारा पिछले एक वर्ष से चोरी की वारदातों को अंजाम दिया जा रहा है। आरोपियों से चोरी की वारदातों के संबंध में पूछताछ की जाएगी।

Advertisements