सूत्रों के अनुसार, पूछताछ में मनीषा और चिरंतन के एक रिटायर्ड आईएएस अफसर से संबंधों की बात सामने आई है। पूर्व आईएएस अधिकारी इसी साल रिटायर हुए हैं। पूछताछ में मनीषा और चिंरतन ने तीन बार सचिवालय में उक्त आईएएस अधिकारी से औपचारिक मुलाकात की बात कुबूल की लेकिन मनीषा की कॉल डिटेल से मालूम हुआ कि उस अधिकारी से वह लगातार फोन पर बात करती थी। इस बाबत जब पुलिस ने मनीषा से सवाल पूछे तो उसने बताया कि अधिकारी की उसके मायके वालों से पुरानी जान-पहचान थी इसलिए वह उनसे जुड़ी थी।

छात्रवृत्ति घोटाले से भी जुड़ रहे तार

आसरा गृह के अलावा पुलिस को चिरंतन के कई धंधों के बारे में भी पता चला है। मेडिकल व इंजीनियंरिंग कॉलेजों में दाखिले से लेकर वह विदेशों में नौकरी दिलाने का ठेका तक लेता था। इसी बीच पुलिस को जानकारी मिली कि चिरंतन कई विद्यार्थियों से छात्रवृति की रकम दिलाने के नाम पर भी उगाही कर चुका है।

कुछ छात्रों को उसने रकम दिलाई भी है। ऐसे में पुलिस छात्रवृति घोटाले के आरोप में घिरे आईएएस एसएम राजू और अमित कुमार से भी उसके संबंधों पर पड़ताल की जा रही है। सूत्रों की मानें तो स्कूटी और किराये की कार से चलने वाली मनीषा पर 16 अप्रैल के बाद से रुपयों की बारिश होने लगी थी। इसके बाद ही उसने वीआईपी नंबर वाली कार खरीदी। साथ ही गया जिले में एक बड़े भूखंड का भी सौदा किया था।

प्रेम के बैंक अकाउंट की भी होगी जांच

सूत्र बताते हैं कि पूछताछ में मनीषा से फर्जी पत्रकार प्रेम के बारे में भी जानकारी ली गई है। जवाब मिला कि वह उसके आयोजनों की पब्लिसिटी कराता था। रांची, छत्तीसगढ़ सहित अन्य शहरों की कई पत्र-पत्रिकाओं में उसके आयोजनों का प्रचार कराया था। अनुमया ह्‌यूमन रिसोर्स फाउंडेशन के खाते से उसे भुगतान भी किया गया है। प्रेम को मनीषा ने कब और कितने रुपये दिए, इसकी जानकारी के लिए पुलिस उसके बैंक अकाउंट खंगालेगी। संभव है कि प्रेम को हिरासत में लेकर पूछताछ हो सकती है।

आसरा होम की दो और संवासिनें पीएमसीएच में भर्ती

राजीव नगर थाना क्षेत्र के नेपाली नगर स्थित आसरा होम की दो और संवासिनों, खुशबू कुमारी (17) एवं सिम्मी कुमारी (22) को गुरुवार को पटना मेडिकल कालेज अस्पताल (पीएमसीएच) में भर्ती कराया गया। दो संवासिनें पूनम एवं जुबैदा खातून पीएमसीएच में पहले से ही भर्ती हैं।