Advertisements

PM मोदी ने कहा – किसी भी नागरिक को नहीं छोड़ना होगा देश

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को दिए एक साक्षात्कार में देश के मुद्दों पर बेबाक राय रखी। इस दौरान उन्‍होंने विपक्ष पर निशाना साधा।

असम में एनआरसी के मुद्दे पर पश्चिम बंगाल की मुख्‍यमंत्री ममता बनर्जी पर निशाना साधते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा- ”जो लोग खुद में विश्‍वास खो चुके हैं, लोगों का लोकप्रिय समर्थन खोने का डर है और हमारे संस्‍थानों में विश्‍वास खो चुके हैं, वही लोग गृह युद्ध, रक्‍तपात और देश के टुकड़े-टुकड़े जैसे शब्‍दों का प्रयोग करते हैं। निसंदेह, वे लोग देश नब्‍ज को जोड़ने में असफल हो चुके हैं।”

एनआरसी के मुद्दे पर उन्‍होंने कहा कि मैं लोगों को विश्‍वास दिलाना चाहता हूं कि भारत के किसी भी नागरिक को देश नहीं छोड़ना होगा। उचित प्रक्रिया के अनुसार, लोगों की चिंताओं को संबोधित करने के लिए सभी संभावित अवसर दिए जाएंगे।

एक करोड़ लोगों को मिली नौकरी

पीएम मोदी ने दावा किया कि पिछले साल एक करोड़ से ज्‍यादा लोगों को नौकरी दी गई। उन्होंने कहा कि ऐसे में ये अभियान बंद हो जाना चाहिए कि देश के लोगों को नौकरियां नहीं मिल रही हैं।

विपक्ष द्वारा लगाए गए आरोप पर कि वे महिलाओं के साथ हो रहे अत्याचार और मॉब लिंचिंग की घटनाओं पर कुछ नहीं बोलते पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि हमारी पार्टी और मैंने इन मुद्दों पर कई मौकों पर बोला है कि हम ऐसी मानसिकता और कार्यों के खिलाफ हैं।

यहां तक कि एक भी घटना बहुत दुर्भाग्यपूर्ण है। समाज में शांति और एकता सुनिश्चित करने के लिए हर किसी को राजनीति से ऊपर उठना चाहिए।

राहुल गांधी द्वारा जीएसटी को गब्बर सिंह टैक्स कहे जाने पर उन्‍होंने कहा कि गुजरात चुनाव के दौरान कांग्रेस अध्यक्ष ने लोगों को जीएसटी के खिलाफ भड़काने की पूरी कोशिश की लेकिन लोगों ने उन्हें स्वीकार नहीं किया।

राहुल गांधी द्वारा ससंद में गले लगाए जाने पर उन्‍होंने कहा कि यह आपके ऊपर है कि आप इसे बचकानी हरकत मानते हैं या नहीं। अगर आप फैसला नहीं कर पा रहें हैं तो राहुल गांधी का वह आंख मारना देखिए आपको जवाब मिल जाएगा।

Hide Related Posts