लॉर्ड्‍स टेस्ट का पहला पूरा दिन बारिश की भेंट चढ़ गया था। इंग्लैंड के कप्तान जो रूट ने दूसरे दिन टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करने का फैसला किया। भारत की तरफ से कोई भी बल्लेबाज इंग्लिश गेंदबाजों का प्रतिकार नहीं कर पाया। रविचंद्रन अश्विन ने सबसे ज्यादा 29 रन बनाए। कप्तान विराट कोहली ने 23 और उपकप्तान अजिंक्य रहाणे ने 18 रन बनाए।

इस पारी में टीम इंडिया के नाम अनचाहा रिकॉर्ड दर्ज हो गया। भारत की पहली पारी मात्र 35.2 ओवरों में 107 रनों पर सिमटी, यह भारत के टेस्ट इतिहास में दूसरी सबसे छोटी पारी रही। इससे पहले वह 1974 में मात्र 17 ओवरों में 42 रनों पर ढेर हुई थी।

भारत की पारी 35.2 ओवरों में सिमटी, जो लॉर्ड्‍स पर पिछले 100 सालों में पहले बल्लेबाजी करने वाली टीम की दूसरी छोटी पारी रही। जिम्बाब्वे की पारी वर्ष 2000 में इंग्लैंड के खिलाफ 30.3 ओवरों में ढेर हुई थी, जो इस मैदान की इस शताब्दी की सबसे छोटी पहली पारी रही। जिम्बाब्वे की पारी मात्र 83 रनों पर सिमटी थी।

लॉर्ड्स में 100 साल में पहले बल्लेबाजी करते हुए पांच छोटी पारियां

ओवर टीम स्कोर

30.3 जिम्बाब्वे वि. इंग्लैंड 2000 – 83 रन

35.2 भारत वि. इंग्लैंड 2018 – 107 रन

38.2 बांग्लादेश वि. इंग्लैंड 2005 – 108 रन

40.2 ऑस्ट्रेलिया वि. इंग्लैंड 2005 – 190 रन

42.3 इंग्लैंड वि. ऑस्ट्रेलिया 1997 – 77 रन