न्यूजीलैंड के साथ आज पहला ODI, भारत का पलड़ा भारी

मुंबई। इस सत्र में एकतरफा जीत दर्ज करने वाली भारतीय टीम रविवार से शुरू हो रही तीन मैचों की वनडे सीरीज के लिए न्यूजीलैंड के खिलाफ उतरेगी तो मौजूदा फॉर्म के आधार पर उसका पलड़ा भारी होगा।

विश्व चैंपियन ऑस्ट्रेलिया को हराने के बाद टीम इंडिया के हौसले बुलंद है। न्यूजीलैंड को फॉर्म में चल रही मेजबान टीम को हराने के लिए अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करना होगा।

भारत का बल्लेबाजी और गेंदबाजी संयोजन संतुलित है और सभी खिलाड़ियों ने जीत में योगदान दिया है। एक इकाई के रूप में विराट कोहली की टीम का प्रदर्शन बेहतरीन रहा है।

तीन सत्र पहले भारत को इस मैदान पर दक्षिण अफ्रीका ने हराया था, लेकिन उसके बाद से भारत ने अपनी सरजमीं पर लगातार तीन सीरीज जीती हैं। अपराजेय होती जा रही भारतीय टीम ने जीत का ऐसा तिलिस्म अपने इर्द-गिर्द बना लिया है जिसे तोड़ना आसान नहीं लग रहा।

लय में भारतीय बल्लेबाज : ऑस्ट्रेलिया से 2009-10 में हारने के बाद भारत 16 द्विपक्षीय मैचों में सिर्फ पाकिस्तान (2012) और दक्षिण अफ्रीका से हारा है। ऑस्ट्रेलिया पर उसने 4-1 से जीत दर्ज की, जबकि कप्तान कोहली सर्वश्रेष्ठ फॉर्म में नहीं थे और सलामी बल्लेबाज शिखर धवन भी टीम से बाहर थे।

उप कप्तान रोहित शर्मा ने 296 रन बनाए, जिसमें एक शतक और दो अर्धशतक शामिल थे। अजिंक्य रहाणे ने चार अर्धशतक समेत 244 रन बनाए, जबकि ऑलराउंडर हार्दिक पांड्या ने 222 रन बनाए।

महेंद्र सिंह धौनी ने भी उम्दा बल्लेबाजी की। यदि भारतीय टीम ने यही लय कायम रखी तो न्यूजीलैंड को वानखेड़े की पिच पर हराना मुश्किल नहीं होगा। बल्लेबाजों की ऐशगाह मानी जाने वाली इस पिच पर खूब रन बनने की उम्मीद है।

स्पिन और तेज आक्रमण : चाइनामैन कुलदीप यादव और लेग स्पिनर युजवेंद्र चहल की अगुआई में नए स्पिन आक्रमण ने अच्छा प्रदर्शन किया है। इन दोनों का साथ देने के लिए बायें हाथ के स्पिनर अक्षर पटेल भी हैं। तेज गेंदबाजी का मोर्चा भुवनेश्वर कुमार और जसप्रीत बुमराह संभालेंगे।

कीवी टीम की उम्मीदें : न्यूजीलैंड की उम्मीदें उसके सबसे सीनियर बल्लेबाज और पूर्व कप्तान रोस टेलर पर टिकी होंगी, जिन्होंने ब्रेबॉर्न स्टेडियम पर भारतीय बोर्ड अध्यक्ष एकादश के खिलाफ दूसरे अभ्यास मैच में शतक जमाया था। टेलर, सलामी बल्लेबाज मार्टिन गुप्टिल और कप्तान केन विलियमसन पर कीवी टीम को बड़ा स्कोर देने की जिम्मेदारी होगी। टॉम लाथम ने भी दूसरे अभ्यास मैच में शतक जमाया था। हालांकि, कुल मिलाकर न्यूजीलैंड की बल्लेबाजी भारत के सामने कमजोर है, खासकर उपमहाद्वीपीय हालात में।

गेंदबाजी का दारोमदार : ट्रेंट बोल्ट और टिम साउथी को जिम्मेदारी लेकर अच्छी गेंदबाजी करनी होगी। स्पिनर मिशेल सेंटनर और ईश सोढ़ी पर बीच के ओवरों में रनगति पर अंकुश लगाने की जिम्मेदारी होगी।

टीमें :

भारत : विराट कोहली (कप्तान), रोहित शर्मा, शिखर धवन, अजिंक्य रहाणे, मनीष पांडे, केदार जाधव, दिनेश कार्तिक, महेंद्र सिंह धौनी, हार्दिक पांड्या, अक्षर पटेल, कुलदीप यादव, युजवेंद्र चहल, जसप्रीत बुमराह, भुवनेश्वर कुमार और शार्दुल ठाकुर।

न्यूजीलैंड : केन विलियमसन (कप्तान), ट्रेंट बोल्ट, कोलिन डि ग्रैंडहोम, मार्टिन गुप्टिल, मैट हेनरी, टॉम लाथम, हेनरी निकोलस, एडम मिल्ने, कोलिन मुनरो, ग्लेन फिलिप्स, मिशेल सेंटनर, टिम, रॉस टेलर और जॉर्ज वर्कर और ईश सोढ़ी।