भोपाल। मध्यप्रदेश कांग्रेस कार्यालय में पार्टी के शक्ति प्रोजेक्ट का गुरुवार को लोकार्पण किया गया। इसके माध्यम से हर मतदान केंद्र के मतदाता को कांग्रेस से जोड़ा जाना है। जो नेता इससे एक हजार से ज्यादा मतदाता को जोड़ेगा, उसे कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और पीसीसी अध्यक्ष कमलनाथ से मुलाकात करने का मौका दिया जाएगा। लोकार्पण के दौरान कमलनाथ ने नेताओं को चेतावनी दी कि जो अपने मतदान केंद्र, ब्लॉक या जिले के मतदाताओं को इससे नहीं जोड़ पाएगा, उसे राजनीतिक जीवन के बारे में सोचना चाहिए। कार्यक्रम में पहले दिन जो कांग्रेस नेता मतदाता परिचय पत्र लाए थे, उन्हें रजिस्ट्रेशन करके दिखाया गया। साथ ही बताया गया कि मतदाता परिचय पत्र के आईडी नंबर से मोबाइल नंबर 8828843009 पर संदेश भेजकर रजिस्ट्रेशन कराया जा सकता है।

इसे भी पढ़ें-  Aryan Khan Bail Hearing Live: आर्यन inखान की जमानत याचिका पर सुनवाई शुरू, अरबाज मर्चेंट के वकील रख रहे दलील

कमलनाथ ने शक्ति को क्रांतिकारी प्रोजेक्ट बताया और कहा कि इसके माध्यम से सभी कार्यकर्ताओं को जोड़ने का लक्ष्य रखा गया है। शक्ति से जोड़ने का काम कांग्रेस के प्रदेश, जिला और ब्लॉक पदाधिकारियों, वर्तमान व भूतपूर्व विधायक को करना है। इसके लिए 31 अगस्त की तारीख तय की गई है।

जो ब्लॉक ज्यादा संख्या में कार्यकर्ताओं को इससे जोड़ेगा, उसका सम्मान किया जाएगा। इससे कांग्रेस नेताओं के जुड़ने पर संगठन मजबूत होगा। डेटा एनालिस्टिक्स सेल की समन्वयक अजीता वाजपेयी पाण्डे ने कहा, शक्ति के माध्यम से कांग्रेस नेतृत्व अपना संदेश और सुझाव कार्यकर्ता तक सीधे पहुंचा सकते हैं। इसी तरह कार्यकर्ता भी अपना सुझाव हाईकमान तक पहुंचा सकते हैं।

इसे भी पढ़ें-  आर्यन को फंसाया गया, वानखेड़े की जाएगी नौकरी; नवाब मलिक बोले- अगर मैं गलत तो दे दूंगा इस्तीफा

अजय सिंह 4 समितियों में शामिल

प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह को विधानसभा चुनाव की चार समितियों में सदस्य बनाया है। पीसीसी के संगठन प्रभारी उपाध्यक्ष चंद्रप्रभाष शेखर ने बताया कि अजय सिंह को चुनाव अभियान समिति, योजना व रणनीति समिति, घोषणा पत्र समिति और समन्वय समिति में सदस्य बनाया गया है।

चुनावी तैयारी की हुईं बैठक

इधर, कांग्रेस की चुनाव अभियान समिति की गुरुवार को पीसीसी में बैठक हुई। भोपाल संभाग की चुनाव अभियान समिति की इस बैठक में अन्य जिलों के कांग्रेस पदाधिकारी भी शामिल हुए। वहीं, योजना व रणनीति समिति की बैठक में भी चुनाव संबंधी कार्ययोजना पर विचार-विमर्श किया गया। इसके अलावा कमलनाथ ने पोरवाल समाज के पदाधिकारियों के साथ बैठक की। अभा पोरवाल महासभा के पदाधिकारियों ने यहां कहा कि जीएसटी और नोटबंदी से किसान परेशान हैं। क्रय शक्ति घट गई है।

इसे भी पढ़ें-  सुषमा, सोनिया से मुलायम तक; अमरिंदर ने फिर फोड़ा फोटो बम, पूछा- क्या इन सबके ISI से संबंध हैं?