आधे दिन की होगी गुरूपूर्णिमा, जानिए खास वजह

Advertisements

जबलपुर । गुरुपूर्णिमा पर इस बार चंद्रग्रहण का साया पड़ रहा है। खग्रास चंद्रग्रहण के कारण 27 जुलाई को आधे दिन ही शिष्य अपने गुरुजनों का पूजन कर सकेंगे। इसे लेकर मंदिरों एवं गुरुधामों में भी सुबह से दोपहर 2 बजे तक ही गुरुपूर्णिमा महोत्सव का आयोजन किया जाएगा। हालांकि इसके बाद भी शिष्य अपने गुरुजनों के दर्शन कर सकेंगे। ग्रहण रात 11.53 बजे से प्रारंभ होगा और रात 3.49 बजे तक रहेगा। ग्रहण का मध्य काल रात्रि 1.51 बजे पर होगा। इसका कालखंड लगभग 3 घंटे 54 मिनट तक है। सूतक लगने के पूर्व ही मंदिरों के पट भी बंद हो जाएंगे।

आचार्य वासुदेव शास्त्री ने बताया कि चंद्रग्रहण का सूतक 27 जुलाई को दोपहर 2.53 बजे लग जाएगा। साल का दूसरा एवं आखिरी चंद्रग्रहण 27-28 जुलाई की दरमियानी रात पड़ेगा। ग्रहण के सूतक से पहले गुरुपूर्णिमा का पर्व मनाया जाना श्रेष्ठ है। इस तरह का संयोग पूरे 104 साल बाद बन रहा है। इसके पूर्व गुरुपूर्णिमा पर 18 साल पहले चंद्रग्रहण हुआ था।

गीताधाम, ग्वारीघाट –

गुरुपूर्णिमा महोत्सव के अंतर्गत गीताधाम ग्वारीघाट में 20 से 26 जुलाई तक श्रीमद्भागवत महापुराण ज्ञान यज्ञ का आयोजन किया जाएगा। जगद्गुरु डॉ. स्वामी श्यामदेवाचार्य महाराज दोपहर 3 बजे से 6 बजे तक कथा वाचन करेंगे। 27 जुलाई को गुरुपूर्णिमा महोत्सव का आयोजन किया जाएगा। सुबह 4.30 बजे से दोपहर 2.45 बजे तक गुरुपूजन होगा। 2.45 बजे से शाम 6 बजे तक शिष्य और भक्त गुरुजी भगवान के दर्शन कर सकेंगे। डॉ. स्वामी नरसिंह दास महाराज ने सभी शिष्य एवं भक्तों से उपस्थित होने अपील की है।

गुप्तेश्वर मंदिर –

गुप्तेश्वर मंदिर के पं. योगेंद्र त्रिपाठी ने बताया कि मंदिर में गुरु पूजन, गुरुदीक्षा कार्यक्रम सुबह 8 बजे से दोपहर 2.30 बजे तक आयोजित किया जाएगा। इसके बाद शाम 6 बजे तक शिष्य गुरुदेव भगवान के दर्शन कर सकेंगे। इस दौरान मानस पूजन, भजन-कीर्तन चलता रहेगा।

बगलामुखी सिद्धपीठ –

बगलामुखी सिद्वपीठ शंकराचार्यमठ में गुरुपूर्णिमा पर 20 से 27 जुलाई तक श्रीमद्भागवत ज्ञानयज्ञ का आयोजन किया जाएगा। ब्रह्मचारी दोपहर 4 बजे से शाम 7 बजे तक चैतन्यानंद महाराज कथा वाचन करेंगे। मीडिया प्रभारी मनोज सेन ने बताया कि गुरुपूर्णिमा पर दोपहर 2.30 बजे तक गुरुपूजन होगा। कथा के दौरान अन्य महाराज भी अमृतमय प्रवचन देंगे।

पाटबाबा मंदिर –

पाटबाबा मंदिर के पुजारी पं. नंदगोपाल तिवारी ने बताया कि ग्रहण के सूतक के कारण इस बार गुरुपूर्णिमा महोत्सव 2 बजे तक आयोजित किया जाएगा। शिष्य एवं भक्त दो बजे तक ही पूजन कर सकेंगे। इसके बाद मंदिर के पट बंद हो जाएंगे, जो दूसरे दिन 28 जुलाई की सुबह खुलेंगे।

वैष्णो माता मंदिर –

वैष्णो माता मंदिर एकता नगर एकता चौक एमआर-4 में सुबह 9 बजे से दोपहर 3 बजे तक गुरुपूजन कार्यक्रम होगा। इस दौरान भजन, आरती एवं प्रसाद वितरण किया जाएगा।

भोलेकुटी, शक्ति नगर –

भोलेकुटी शक्ति नगर के पं. राजेशदास महाराज ने बताया कि बाबा विश्वनाथ महाराज के सानिध्य में सुबह 7 बजे से दोपहर 2 बजे तक गुरु पूजन एवं गुरुदीक्षा कार्यक्रम होगा। इस दौरान बाबाजी भगवान भोलेनाथ का पूजन-अर्चन करेंगे।

समन्वय सेवा केंद्र –

समन्वय सेवा केंद्र छोटी लाइन फाटक के ज्ञान सनोरिया ने बताया कि ग्रहण के कारण इस बार गुरुपूजन एवं पादुका पूजन सुबह 9 बजे से 12 बजे तक आयोजित किया जाएगा। स्वामी अखिलेश्वरानंद गिरि महाराज के सानिध्य में कार्यक्रम का आयोजन होगा।

लार्डगंज जैन मंदिर में सुबह होगा पूजन –

लार्डगंज जैन मंदिर में सुबह 8 बजे से 10 बजे गुरुपूर्णिमा महोत्सव मनाया जाएगा। इसके अलावा अन्य जैन मंदिरों में भी गुरुपूजन होगा। विद्वान अमित शास्त्री ने बताया कि प्रतिवर्षानुसार गुरुपूर्णिमा पर जैन मंदिरों में श्रद्घालु आचार्यश्री का पूजन करेंगे।

Advertisements