प्रभात झा की नसीहत: सोशल मीडिया में सोच समझ कर बात करें bjp कार्यकर्ता

भोपाल । मध्यप्रदेश भाजपा कार्यालय में रविवार को पार्टी के आईटी सेल के मंडल और जिले के प्रभारियों की कार्यशाला हुई। इसमें भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष प्रभात झा ने कहा कि 2 अप्रैल को दलित आंदोलन के दौरान हमने सोशल मीडिया पर कांग्रेस के लोगों को हथियार के साथ दिखाया। इससे लोगों में यह बात बैठी कि हिंसा के पीछे कहीं न कहीं कांग्रेस का हाथ है। यही हमारी सफलता है।

 झा ने कहा कि मंथन नाम की संस्था का सर्वे बताता है कि सोशल मीडिया पर 70 से 80 प्रतिशत मतदाता सकारात्मक बातें स्वीकार करता है, लेकिन इस बात में लॉजिक होना चाहिए। पूरी लड़ाई छवि की है।

वे बोले कि सोशल मीडिया पर कुछ तो नकरात्मक बात करेंगे तो हमारा नुकसान ही होगा। निकाय चुनाव के दौरान हमारे एक नेता से गलत बयानबाजी हो गई। यह सोशल मीडिया पर खूब चली तो हम आसपास की तीन सीटें हार गए। झा ने कहा कि गुजरात विस चुनाव में तत्कालीन कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने पीएम नरेंद्र मोदी को मौत का सौदागर कहा था। इसका दंड कांग्रेस को पराजय के रूप में भोगना पड़ा था। ऐसे बयानों का उपयोग हमें उपयोग करना है।

जब संबल की जानकारी नहीं दे सके कार्यकर्ता

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कार्यकर्ताओं से पूछा कि कितने लोग संबल योजना के बारे में जानते हैं? इस पर 20 से 25 कार्यकर्ताओं ने हाथ उठाए। सीएम ने आश्चर्य जताते हुए योजना की जानकारी मांगी तो कोई बता नहीं पाया।