मेडिकल छात्र खुदकुशी मामला: आरोपी लड़की को पुलिस ने पूना से किया गिरफ्तार

Advertisements

भोपाल। मध्य प्रदेश के बैतूल में मेडिकल छात्र को खुदकुशी के लिए उकसाने की आरोपी श्रुति शर्मा को पुलिस ने पूना से गिरफ्तार कर लिया है. श्रुति के साथ एक औऱ आऱोपी शालीन उपाध्याय भी पकड़ा गया है. अदालत ने दोनों को एक हफ्ते की पुलिस रिमांड पर भेज दिया है. इस मामले में दो आऱोपी पहले ही पकड़े जा चुके हैं औऱ एक अभी भी फरार है.

गौरतलब है कि एमबीबीएस छात्र यश पाठे ने 13 जन को फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली थी. आरोप है कि लेड़ी डॉन मृतक से ड्रग्स के पैसे मांग रही थी.

क्या है मामला
पिछले दिनों भोपाल के मेडिकल कॉलेज में पढ़ रहे बैतूल के एक छात्र ने खुदकुशी कर ली थी, जिसके बाद वायरल हुए एक वीडियो में एक लड़का भोपाल में पढ़ रहे मेडिकल छात्र यश को बेल्ट से ताबड़तोड़ पीट रहा था. यश उसके सामने गिड़गिड़ा रहा था कि मत मारो, तभी एक लड़की की उंगली दिखाते हुए कह रही है सबके सामने मामला निपटा देगा. यह वीडियो 12 जून का बताया जा रहा है और मोबाइल से यश के भोपाल के कमरे में बनाया गया है.

इस हाई प्रोफाइल मामले में मुख्य आरोपी श्रुति शर्मा मध्य प्रदेश विधानसभा के पूर्व सचिव सत्यनारायण शर्मा की बेटी है. इसी लड़की को पुलिस ने उसके साथी आरोपी शालीन उपाध्याय के साथ पूना क्राइम ब्रांच की मदद से गिरफ्तार किया है.

बैतूल के एसपी डीआर तेनिवार ने बताया कि13 जून की रात यश पाठे ने जो खुदकुशी की थी उस मामले में भोपाल के पांच लोग आऱोपी बने थे. उसमें आकाश सोनी औऱ गौरव दूबे पहले ही गिरफ्तार हो चुके थे अब मुख्य आरोपी श्रुति शर्मा को पूना क्राइम ब्रांच की मदद से पूना में उसके साथ आरोपी शालीन उपाध्याय को गिरफ्तार किया है. श्रुति को पुलिस रिमांड पर लेकर ड्रग्स के तार की जांच करेंगे.

इस मामले में पांच आरोपी बनाये गए, जिनकी सरगना श्रुति शर्मा है. आरोप है कि ये गैंग नशीले पदार्थ का सेवन करते है और उसके लिए पैसा प्राप्त करने के लिए इस तरह प्रताड़ित करते थे. हालांकि पुलिस की गिरफ्त में आने के बाद श्रुति इन आरोपों को सिरे से खारिज कर रही है.

वहीं मुख्य आरोपी श्रुति शर्मा ने कहा कि मैनें ऐसा कोई काम नहीं किया है और ना यश को प्रताड़ित किया. ड्रग एवं मारपीट के तार मीडिया और पुलिस जोड़ रही है. मेरे ऊपर लगे सारे आरोप गलत हैं.

बैतूल पुलिस ने इस मामले में भोपाल के पांच लोगो को प्रताड़ना का आरोपी बनाया था जिन पर धारा 306 में खुदकुशी के लिए उकसाने का केस दर्ज किया गया है. गौरव दुबे औऱ आकाश सोनी जेल में हैं. श्रुति और शालीन को अदालत ने सात दिन की पुलिस रिमांड पर दिया है. एक औऱ आऱोपी कार्तिक खरे फरार है.

मामले में शामिल सारे आरोपी मेडिकल और इंजीनियरिंग के छात्र है. बताया जा रहा है कि ये ड्रग्स के आदी हैं और अपने जूनियर छात्रों को भी ड्रग्स का चस्का लगा कर उनके साथ मारपीट कर उनके घरवालों से रुपये बुलवाते हैं.

Advertisements