बच्चियों से रेप की घटनाओं से दहले मध्यप्रदेश में सीएम ने सीजेआई को लिखा पत्र

Advertisements

भोपाल। मध्यप्रदेश में बच्चियों से रेप की बढ़ती वारदातों के बाद अब सीएम शिवराज सिंह चौहान ने चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया को पत्र लिखा है.  मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने  रेप केस की सुनवाई के लिए फास्ट ट्रैक कोर्ट गठित कर जल्द सुनवाई का अनुरोध उनसे किया है.

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने देश के मुख्य न्यायाधीश दीपक मिश्रा को पत्र लिखा है. इसमें सीएम ने रेप केस की प्राथमिकता के आधार पर जल्दी सुनवाई करने का अनुरोध चीफ जस्टिस से किया है. जल्द सुनवाई से पीड़ित की मानसिक पीड़ा कम होती है.जल्द सुनवाई,  समाज में नज़ीर पेश करने में मददगार होगी

सीएम ने खत में बच्चियों को दुर्गा का रूप कहा है. सीएम ने खत में लिखा है कि रेप की कुछ जघन्य घटनाओं के बाद देश में नाराज़गी का माहौल है. मैं ये मानता हूं कि बच्चियां दुर्गा का रूप होती हैं. मध्य प्रदेश देश का पहला ऐसा राज्य है जिसने 12 साल से कम उम्र की नाबालिगों के साथ रेप के दोषियों को फांसी का सजा दिए जाने का प्रावधान किया है.

5 दिन में मध्यप्रदेश में मासूमों से रेप की दो बड़ी वारदातें हुईं. बुधवार को मंदसौर में स्कूल से लौट रही 8 साल की बच्ची से गैंगरेप किया गया और फिर रविवार को सतना के पन्ना गांव में 4 साल की बच्ची रेप की शिकार हुई. इन वारदातों से पूरा प्रदेश दहला हुआ है. लोग गुस्से से भरे हुए हैं. पूरे प्रदेश में इन घटनाओं के विरोध में प्रदर्शन हुए.

Advertisements