बिलासपुर। अमृतसर- बिलासपुर छत्तीसगढ़ एक्सप्रेस में पेंट्रीकार के कर्मचारियों ने एक यात्री को 50 रुपये का खाना 120 रुपये में और 7 रुपये की चाय 10 रुपये में दी। वहीं एक अन्य यात्री को प्रिंट रेट से अधिक कीमत में कोल्डड्रिंक्स दी गई। दोनों ही यात्रियों ने टि्वटर के जरिए रेलवे बोर्ड से इसकी शिकायत की। आइआरसीटीसी मामले की जांच कर रही है। दोनों ही शिकायत 26 जून को हुई है।

उत्तरप्रदेश के कासगंज जिले के बारी होली निवासी सुनील अग्रवाल परिवार के तीन सदस्यों के साथ स्लीपर कोच में इस ट्रेन में अमृतसर से मथुरा जा रहे थे। सफर के कुछ देर बाद उन्होंने चारों के लिए वेज खाना आर्डर किया। पेंट्रीकार कर्मचारी ने 120 रुपये के हिसाब बिल दिया। हालांकि उसे 120 के हिसाब से भुगतान किया। बाद में उन्होंने चाय का आर्डर दिया। इसमें पेंट्रीकार के कर्मचारी तीन रुपये अधिक वसूले।

दूसरा प्रकरण भी उस दिन इसी ट्रेन का है। विनय नगर सेक्टर -तीन ग्वालियर निवासी के. कस्तूरे व अनघा कस्तूरे इस ट्रेन के स्लीपर कोच में ग्वालियर से दुर्ग के लिए यात्रा कर रहे थे। उन्होंने पेंट्रीकार के कर्मचारी से कोल्ड ड्रिंक्स खरीदी। जिसे उनसे प्रिंट रेट से अधिक कीमत में बेचा। दोनों यात्रियों के ट्वीट को रेलवे बोर्ड ने गंभीरता से लिया है। यह ट्रेन दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे जोन की है। इसलिए जोनल स्टेशन स्थित आइआरसीटीसी के कार्यालय में प्रकरण भेजकर जांच करने के निर्देश दिए।

जुर्माने की कार्रवाई तय

यात्रियों से पूछताछ में पेंट्रीकार के कर्मचारियों की लापरवाही सामने आ चुकी है। इस स्थिति में पेंट्रीकार संचालक के खिलाफ जुर्माने की कार्रवाई तय भी है।