Online high profile sex racket : पर्दाफाश, 2 युवतियों समेत 4 गिरफ्तार

Advertisements

शिमला। हिमाचल प्रदेश की राजधानी शिमला में पुलिस ने हाई प्रोफाइल सेक्स रैकेट का पर्दाफाश किया गया है. शिमला पुलिस ने ऑनलाइन एस्कॉर्ट सर्विस का पर्दाफाश किया है. DSP दिनेश शर्मा के नेतृत्व में पुलिस ने चंडीगढ़ से चलने वाले बड़े नेटवर्क को पकड़ा है.

पुलिस और News 18 की टीम ने साझा ऑपरेशन चलाकर इसका पर्दाफाश किया है. देर रात मशोबरा के पास दो दलाल और दो लड़कियां पकड़ी गईं. पुलिस को इन्हें पकड़ने में कड़ी मश्क्कत करनी पड़ी. DSP दिनेश शर्मा को उनके खुफिया सूत्र लगातार इस बात की जानकारी दे रहे थे कि शिमला में जिस्मफरोशी का धंधा ऑनलाइन चल रहा है.

शिमला एस्कॉर्ट सर्विस के नाम से वेबसाइट चल रही थी और बकायदा इसमें दलाल का मोबाइल नंबर भी दिया गया है. पुलिस ने कई बार फोन कर इनसे संपर्क करने की कोशिश की लेकिन कामयाबी नहीं मिली.

हिमाचल के नंबरों से नहीं उठाते थे फोन


दरअसल, इस धंधे को चलाने वाले लोग केवल पर्यटकों और हाई प्रोफाइल लोगों को ही अपना निशाना बनाते थे. इसी वजह से रैकेट से जुड़े लोग हिमाचल के किसी भी नंबर से फोन नहीं उठाते थे. पुलिस ने इन शातिरों से एक कदम आगे बढ़ते हुए सबसे पहले दिल्ली से एक सिम का इंतजाम किया.

सिम के बाद अब जरुरत थी कि अब कौन और कैसे बाहरी व्यक्ति के लहजे में इन सौदागरों से बात करेगा और कैसे इन्हें अपने जाल में फंसाया जाएगा. News-18 की टीम को भी इस तरह की जानकारी थी. News18 की टीम ने यह जिम्मेदारी ली. फर्जी कस्टमर बनकर बड़ी सावधानी और चालाकी से इस गिरोह को फांस लिया.

गोरखधंधे को चलाने वाले बड़े सावधान और होशियार
इस गोरखधंधे को चलाने वाले बड़ी सावधानी और होशियारी से काम करते हैं. पहले ग्राहक के मोबाइल की जांच की जाती है. होटल का पता पूछा जाता है. फिर यह जांच लिया जाता है कि कस्टमर जिस होटल के बारे में बता रहा है, वह सही में यहां रुका है या नहीं. जब इन सब बातों की पुष्टि हो जाती है तो फिर कीमत तय की जाती है. सारी बात दलाल ही करता है.

20 हजार से 35 हजार रुपये लेते थे
व्हाट्स ऐप के जरिए लड़कियों की तस्वीरें भेजी जाती हैं. कीमत 20 हजार से 35 हजार रूपए बताई जाती है. मोल-भाव के बाद जब कीमत तय होती है तो दलाल पेशगी मांगता है. जो किसी खाते में जमा करनी होती है.

टोकन मनी मिलते ही यह दलाल लड़कियां लेकर चंड़ीगढ़ से शिमला की ओर रवाना होते हैं. थोड़े-थोड़े समय बाद कस्टमर से बात कर इस बात को पुख्ता किया जाता है कि कोई खतरा तो नहीं है. साथ ही लड़कियों से भी बात करवाई जाती है, ताकि कस्टमर परेशान न हो.

चारों पंजाब के रहने वाले
News-18 और पुलिस की टीम बुधवार सुबह से ही ऑपरेशन में जुट गई थी. शाम को 6 बजकर 41 मिनट पर पहली बार दलाल से बात हुई. दलाल को पूरी तरह से भरोसे में लिया गया. बात होते ही पुलिस ने पूरे इलाके को सील कर दिया और विशेष टीमों का गठन किया. रात करीब पौने एक बजे मशोबरा के समीप इनको दबोच लिया गया. ये चारों पंजाब के रहने वाले हैं.

ये सामान मिला
इन चारों से सिम समेत 6 मोबाइल और कुछ नगदी बरामद की गई है. साथ ही यह जिस गाड़ी से आए थे, उसे भी कब्जे में लिया गया है. गाड़ी से कई संदिग्ध चीजें बरामद की गई हैं.

यहां तक कि मेकअप के सामान के साथ एक विग भी बरामद किया गया है. पुलिस पूरी मुस्तैदी से छानबीन में जुट गई है. आशंका है कि इनके तार नशा माफिया के साथ जुड़े हो सकते हैं. पूछताछ के दौरान ये सभी लगातार अपने बयान बदल रहे हैं. नाम भी गलत बताए जा रहे हैं लेकिन इन सब ने यह माना है कि यह पूरा खेल चंडीगढ़ से ही खेला जाता है.

Advertisements