जानकारी के अनुसार धामनगर थाना अंतर्गत पाइकसाही गांव निवासी किसान विजय भुइंया ने कभी सपने में भी नहीं सोचा होगा कि उसका अपना घर नागलोक बन जाएगा। लेकिन ऐसा हुआ।

विजय ने बताया कि एक दिन उसके नए बने मकान में एक कोबरा सांप रेंगकर ड्रॉइंग रूम में मौजूद उसकी बेटी के पैर पर चढ़ गया। हालांकि, सांप ने उसे डसा नहीं लेकिन इसके बाद उसके यहां एक के बाद एक सांप निकलने लगे, डरे हुए परिवार ने स्नैक हेल्पलाइन को सूचना दी।

बीते शुक्रवार से अब तक उसके कच्चे घर से नाग के 106 सपोले, तीन नाग-नागिन और 20 अंडों को स्नैक हेल्पलाइन के कार्यकर्ताओं ने बरामद किया है। भुइंया परिवार और आसपास के लोग काफी दहशत में है। लोगों की मानें तो शुक्रवार से भुइंया परिवार और उसके पड़ोसियों की नींद गायब हो गई है। कहीं रस्सी भी दिखती है तो सांप का भ्रम होने लगता है।