लसूड़िया पुलिस ने शनिवार रात महालक्ष्मी नगर (एमआर-4) निवासी तांत्रिक पं. करनेलसिंह उर्फ त्रिलोकीनाथ उर्फ आदेश बापू को गिरफ्तार किया। उसके खिलाफ चंद्रलोक कॉलोनी निवासी एक कारोबारी की पत्नी की शिकायत पर कार (एमपी 09 सीटी 2826) की हेराफेरी का प्रकरण दर्ज था। सूचना मिली थी कि त्रिलोकीनाथ भक्त बंटी के साथ उसकी कार से उज्जैन भाग रहा है। पुलिस के मुताबिक त्रिलोकीनाथ मूलतः रामवास जिला अलवर (राजस्थान) का रहने वाला है। कुछ वर्षों से उसने खजराना रोड स्थित एक मंदिर में आना-जाना शुरू किया। उसने पारे का शिवलिंग बनाकर लोगों को देना शुरू किया और संभ्रांत लोगों को जोड़ लिया।

एक भक्त उसे जेल रोड स्थित नॉवेल्टी मार्केट ले गया और पूजा-पाठ व घरेलू-पारिवारिक समस्याओं के निदान करने का दावा करने लगा। बाबा से साकेत नगर, चंद्रलोक कॉलोनी के कुछ कारोबारी मिले। एक ने महालक्ष्मी नगर स्थित बंगला आश्रम के लिए दान कर दिया। इस बंगले में भाजपा नेता, विधायक, युवा मोर्चा के पदाधिकारी, भूमाफिया, तस्करों का आना शुरू हुआ। त्रिलोकीनाथ वायदा कारोबार, सट्टे और कारोबार में उतार चढ़ाव के बारे में जानकारी देकर रातोरात करोड़पति बनाने का दावा कर उनसे गुप्त पूजा, तंत्र क्रिया करवाता था। एक डीआईजी, एसपी और एआरटीओ का भी त्रिलोकीनाथ के आश्रम में आना-जाना था। कई पुलिस अफसर उसे इतना मानते थे कि उन्होंने निजी गाड़ियों पर बाबा का नाम ‘आदेश’ लिखवा रखा है।

बोरों में निकली हड्डी, खोपड़ी और तंत्र सामग्री –

करीब एक वर्ष पूर्व त्रिलोकीनाथ से जुड़े लोगों को पता चला कि वह महिलाओं को प्रसाद में नशीला पदार्थ मिलाकर खिला देता था। बेहोशी की हालत में उनका शोषण करता है। इसके बाद लोग दूर होने लगे। एक कारोबारी ने बंगला खाली करवाया तो 10 बोरे पूजन सामग्री, मानव हड्डियां, खोपड़ियां, राख और कई लोगों की फोटो निकली। त्रिलोकीनाथ ने कई लोगों को तंत्र क्रिया से विक्षिप्त और बर्बाद करने की भी धमकी दी।

तांत्रिक ने किया दुष्कर्म, बेटे ने बनाया वीडियो –

पुलिस ने शनिवार देर रात त्रिलोकीनाथ व उसके बेटे दीपकसिंह उर्फ छुटकीनाथ के खिलाफ वृंदावन कॉलोनी निवासी 53 वर्षीय महिला की शिकायत पर दुष्कर्म और ब्लैकमेलिंग का प्रकरण दर्ज किया है। महिला ने पुलिस से कहा कि शारीरिक पीड़ा लेकर आश्रम गई थी। तांत्रिक ने मंत्रों से उसका इलाज किया। इस कारण उस पर आस्था बढ़ने लगी। एक बार तांत्रिक ने दवाइयां खिलाईं और उसे बेहोश कर दिया। उसने दुष्कर्म किया और बेटे छुटकीनाथ ने वीडियो बना लिया। वीडियो वायरल करने, पति व बेटे को बताने की धमकी देकर उसने कई बार यौन शोषण किया। पुलिस के मुताबिक तांत्रिक से मोबाइल जब्त कर लिया गया है।