मौके पर पहुंची पुलिस ने मिट्टी का ढेर हटवाया तो मजदूर बेहोशी की हालत में निकला। पानी के छींटें पड़ते ही वह होश में भी आ गया। इसके बाद उसे उपचार के लिए विक्टोरिया अस्पताल भेजा गया।

नौदराब्रिज हनुमान मंदिर से लगा नगर निगम का खाली मैदान है। इस मैदान को पिछले कुछ महीनों से मिट्टी और मलबे से पूरा जा रहा है। रविवार की रात बालाघाट निवासी 24 वर्षीय विजय विश्वकर्मा इसी मैदान के कोने में सो रहा था। रात को एक डंपर वहां पहुंचा और उसने पूरी मिट्टी विजय के ऊपर खाली कर दी।

विजय पूरी रात मिट्टी में दबा रहा। सुबह होते ही आसपास के कुत्तों ने मिट्टी के ढेर से एक हाथ निकला देखा तो उसे नोंचना शुरू कर दिया। लेकिन वे ज्यादा नोंच-खसोट मचाते उससे पहले ही आसपास के कुछ लोग मौके पर पहुंच गए। उन्होंने सबसे पहले कुत्तों को भगाया। इसके बाद पुलिस को सूचना दी कि मिट्टी के नीचे लाश दबी है।

सूचना पाकर आरक्षक प्रमोद सोनी और आरक्षक राजेन्द्र कुमार मौके पर पहुंचे। दोनों ने तत्काल कुछ मजदूरों को बुलाया और मिट्टी हटवाने का काम शुरू करवाया। जैसे ही मिट्टी पूरी हटी तो नीचे एक युवक दिखा जो बेहोशी की हालत में रहा। क्षेत्रीय लोगों ने जैसे ही युवक पर पानी के छींटे मारे वह होश में आ गया। इसके बाद बिना किसी पूछताछ के पुलिस ने उसे विक्टोरिया अस्पताल पहुंचाया जहां उसकी हालत ठीक बताई जा रही है।