मतदाता सूची में गड़बड़ी : इंदौर 1 में चार मकान नंबरों पर 3500 मतदाता दर्ज

भोपाल। मतदाता सूची में मृत, अनुपस्थित, स्थानांतरित और दो से ज्यादा जगह पर एक ही नाम दर्ज होने की शिकायत के बाद अब एक ही पते पर सैकड़ों मतदाताओं के नाम दर्ज होने के मामले बड़ी संख्या में सामने आ रहे हैं।

इंदौर की विधानसभा इंदौर 1, इंदौर 5 और राऊ में बड़ी तादाद में ऐसे प्रकरण सामने आए हैं। भोपाल की नरेला विधानसभा में 20 पते पर डेढ़ हजार से ज्यादा मतदाता दर्ज हैं। मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी कार्यालय के सामने भी यह मामला आ चुका है। अब ऐसे आवासों को नए सिरे से नंबर देने की कार्रवाई शुरू हो गई है।

सूत्रों का कहना है कि इंदौर की विधानसभा इंदौर-5 में 23 मकान नंबरों पर 1100 मतदाताओं के नाम दर्ज हैं। इंदौर 1 में चार मकान नंबर पर 3500, नरेला के 20 पतों पर 1500 और राऊ में एक ही पते पर 177 मतदाताओं के नाम दर्ज होना सामने आया है। इसकेे पहले कांग्रेस नेता महेंद्र सिंह चौहान भी भोपाल की नरेला विधानसभा में एक पते पर सौ से ज्यादा मतदाताओं के नाम होने की शिकायत मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी कार्यालय में कर चुके हैं। यह बात सही भी पाई गई थी पर इसमें फर्जीवाड़ा सामने नहीं आया, क्योंकि एक बड़े परिसर में कई लोग रहे हैं।

मतदाता सूची बनाते वक्त इन्हें अलग-अलग आवास क्रमांक देने की जगह एक ही नंबर दे दिया गया, जिसकी वजह से भ्रम का माहौल पैदा हुआ। मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी कार्यालय ने इसकी जांच कराई और सभी को अलग-अलग आवास क्रमांक देने के निर्देश कलेक्टर को दिए हैं। यही स्थिति अन्य जगह भी सामने आ रही है। इसके मद्देनजर तय किया गया है कि ऐसी सभी जगह मतदाताओं का भौतिक सत्यापन कर उन्हें अलग-अलग आवास नंबर दिए जाएंगे, ताकि कोई असमंजस की स्थिति न रहे।