प्रोफेशनल एक्जामिनेशन बोर्ड को थमाया 20 करोड़ रुपए सर्विस टैक्स का नोटिस

Advertisements

भोपाल। प्रोफेशनल एक्जामिनेशन बोर्ड (पीईबी) पर कस्टम एंड सेंट्रल एक्साइज विभाग ने करीब 20 करोड़ रुपए की टैक्स वसूली निकाली है। 15 माह पहले गठित हुए बोर्ड को विभिन्न परीक्षाओं के आयोजन से 129 करोड़ रुपए की आय हुई है, लेकिन बोर्ड ने इस पर लागू सर्विस टैक्स अदा नहीं किया। बोर्ड के बहीखातों की छानबीन में यह लेनदारी निकाली गई है।

कस्टम एवं सेंट्रल एक्साइज विभाग ने हाल ही में पीईबी (पूर्व नाम व्यापमं) को यह नोटिस जारी किया है। विभागीय सूत्रों का कहना है कि वर्तमान स्वरूप में बोर्ड का गठन 14 मार्च 2016 को किया गया था।

उसके बाद 30 जून 2017 तक करीब 15 महीने के दौरान यानी जीएसटी लागू होने के पहले तक पीईबी को परीक्षाएं आयोजित करने के बदले 129 करोड़ रुपए की आमदनी हुई। पीईबी ने इस संबंध में कस्टम-सेंट्रल एक्साइज एवं सर्विस टैक्स विभाग को अपनी ओर से टैक्स के बारे में कोई सूचना नहीं दी।

विभाग के अधिकारियों ने पीईबी के बही-खाते, लेजर और अन्य सभी दस्तावेजों की छानबीन कर सर्विस टैक्स के रूप में यह वसूली निकाली है। विभाग ने फाइनेंस एक्ट 1994 के तहत यह नोटिस जारी किया है।

प्रवेश परीक्षाओं और भर्ती के लिए व्यावसायिक परीक्षाएं आयोजित करने के बदले बोर्ड को हुई आमदनी को सेवा शुल्क माना गया है और पीईबी की गतिविधियों को सप्लाई एजेंसी के रूप में परिभाषित किया गया। इसलिए उनकी आमदनी पर विभाग ने 15 फीसदी सर्विस टैक्स लगाया है।

ऑडिट के बाद नोटिस

पीईबी के ऑडिट में पाया गया कि उन्होंने सर्विस टैक्स निकल जमा नहीं कराया। पीईबी पर सर्विस टैक्स के रूप में करीब 19.50 करोड़ रुपए की वसूली निकल रही है। इसके लिए बोर्ड को शोकाज नोटिस जारी किया गया है।

Advertisements