भोपाल। भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह 12 जून को जबलपुर में एक दिन के प्रवास पर रहेंगे। वे प्रदेश चुनाव प्रबंधन समिति के साथ प्रदेश के विधानसभा चुनाव की रणनीति पर चर्चा करेंगे। इस दौरान बैठक में गिन-चुने 22 नेता ही मौजूद रहेंगे।

इसमें पार्टी के प्रदेश प्रभारी डॉ. विनय सहस्त्रबुद्धे, राष्ट्रीय महामंत्री अनिल जैन, राष्ट्रीय संगठन महामंत्री रामलाल, राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय, चुनाव प्रबंधन समिति के अध्यक्ष केंद्रीय पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर, सामाजिक न्याय मंत्री थावरचंद गेहलोत, प्रदेशाध्यक्ष राकेश सिंह मौजूद रहेंगे।

इस बैठक को अति महत्वपूर्ण माना जा रहा है। शाह की दूसरी बैठक आईटी सेल के ढाई सौ कार्यकर्ताओं के साथ होगी, जिसमें चुनाव के दौरान सोशल मीडिया के एजेंडे पर चर्चा की जाएगी। बैठक से पहले वे मप्र की जीवनदायिनी मां नर्मदा का पूजन करेंगे।

पार्टी सूत्रों के मुताबिक विमान से शाह सुबह साढ़े दस बजे जबलपुर पहुंचेंगे। जहां एयरपोर्ट पर उनके भव्य स्वागत की तैयारी की गई है। इसके बाद वे सीधे भेड़ाघाट स्थित पर्यटन निगम की होटल जाएंगे, जहां पार्टी की बैठक आयोजित की गई है। दो बैठक करने के बाद शाह शाम छह बजे दिल्ली लौट जाएंगे।

फीडबैक पर पार्टी बनाएगी रणनीति

मंगलवार को भाजपा की पहली बैठक चुनावी रणनीति को लेकर होगी, जिसमें चुनाव प्रबंधन समिति के सदस्य सहित कुल 22 नेता शामिल होंगे। इस बैठक के लिए शाह के साथ पार्टी महासचिव अनिल जैन भी आ रहे हैं। जैन पूर्व में भी शाह के साथ मप्र के हर दौरे पर आए हैं। शाह ने प्रदेश संगठन को जो जिम्मेदारियां दी थीं, वे सारी जैन के संज्ञान में हैं।

मप्र को लेकर शाह की टीम ने प्रदेश के हर विधानसभा क्षेत्र में जाकर जो सर्वे किया था, उसका विश्लेषण भी जैन कर चुके हैं। माना जा रहा है कि सौदान सिंह की रिपोर्ट से लेकर पार्टी के सर्वे पर इस बैठक में विस्तार से चर्चा होगी। विधानसभा चुनाव लड़ने वाले प्रत्याशियों के चयन की गाइडलाइन को भी फाइनल रूप दिया जाएगा। इसके साथ ही संगठन के लिए चुनाव तक की दिशा तय की जाएगी।

सोशल मीडिया पर होगी चर्चा

शाह की दूसरी बैठक आईटी सेल के ढाई सौ कार्यकर्ताओं के साथ होगी, जिसमें दिल्ली से आई आईटी विशेषज्ञों द्वारा कार्यकर्ताओं को प्रशिक्षण भी दिया जाएगा। चुनाव के दौरान आईअी सेल द्वारा सोशल मीडिया का इस्तेमाल किस तरह किया जाना है, इस पर भी व्यापक विचार किया जाएगा। इस बैठक में आईटी सेल के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित मालवीय भी मौजूद रहेंगे।

महाकोशल-विन्ध्य और बुंदेलखंड की 93 सीटों पर फोकस

बुंदेलखंड, महाकोशल और विंध्य के चार संभागों के 93 विधानसभा क्षेत्रों पर भाजपा की विशेष नजर है। बीते चुनाव में यहां की 63 सीट भाजपा के खाते में आई थीं पर पार्टी को मिले फीडबैक में इन क्षेत्रों में मौजूदा विधायकों के प्रति नाराजगी है।

यही वजह है कि पार्टी ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के मंदसौर दौरे के ठीक बाद में शाह का दौरा जबलपुर के लिए तय किया है। पार्टी सूत्रों का कहना है कि शाह मंगलवार को राहुल द्वारा किसानों की कर्जमाफी की घोषणा का जवाब भी दे सकते हैं।