सतना के पास ट्रेन की चपेट में आये 40 गोवंश

Advertisements

सतना।सतना के मानिकपुर रेलखंड में गुरुवार को ट्रेन की चपेट में आने से 40 गौवंश की मौत का मामला सामने आया है. हालांकि एक बड़ा ट्रेन हादसा होते-होते बच गया और ट्रेन में सवार सभी यात्री सुरक्षित रहे. घटना सुबह रीवा से बिलासपुर और चिरमिरी से रीवा जा रही ट्रेनों के बगहा मुहल्ले के पास से गुजरने के दौरान हुआ. इसमें दोनों ट्रेनों की चपेट में आने से गौवंश की मौत हो गई.
जानकारी के अनुसार सतना शहर से लगे बगहा और कैमा स्टेशन के बीच गुरुवार सुबह लगभग आधा किलोमीटर तक पशुओं के शव रेल पटरियों के बीच पड़े थे. कुछ की जान जा चुकी थी तो कुछ तड़प रहे थे. दरअसल सुबह लगभग छः बजे के करीब रीवा-बिलासपुर और चिरमिरी से रीवा जा रही ट्रेन जैसे ही बगहा मुहल्ले के पास एक दूसरे को क्रासिंग करने वाली थी, उसी समय बड़ी तादात में गौ वंश ट्रेन की पटरियों से गुजर रहे थे. ट्रेन की लाइन का विस्तार के लिए ट्रेन रैक को सुरक्षित करने के लिए संविदाकार ने रस्सियों की बाड़ लगा रखी थी. ऐसे में ये गौवंश निकल नहीं पाए और दोनों ट्रेन की चपेट में आ गए.
इस हादसे में चालीस गौवंश की मौत हुई है. जबकि पांच घायल हैं. सुइह से ट्रैक से शवों को हटाने का काम जारी है. वहीं पटरियों की भी मरम्मत की जा रही है. इस घटना के बाद रेल प्रबंधन ने मामले की जांच शुरू कर दी है.

Advertisements