उपचुनावः कैराना में ईवीएम खराब, सपा और रालोद ने लगाए टैंपरिंग के आरोप

Advertisements

वेब डेस्क। देश के अलग-अलग राज्यों में आज लोकसभा की चार और विधानसभा की 10 सीटों पर उपचुनाव के लिए मतदान शुरू हो चुका है। लोकसभा की जीन सीटों पर सबकी नजर है उनमें उत्तर प्रदेश की कैराना सीट के अलावा महाराष्ट्र के पालघर की सीट अहम है। इसके अलावा भंडारा गोंदिया और नगालैंड की एक-एक लोकसभा सीट पर भी मतदान हो रहा है।

कैराना लोकसभा और नूरपुर विधानसभा उपचुनाव के लिए सोमवार सुबह सात बजे मतदान शुरू हो गया। मतदान को लेकर महिला पुरूषों में सुबह से ही उत्साह तो देखने को मिल रहा है लेकिन कई बूथों पर ईवीएम खराब होने की शिकायतें आ रही हैं। सुबह नौ बजे तक कैराना में करीब 11 प्रतिशत व नूरपुर में दस प्रतिशत मतदाता हो चुका है। पोलिंग बूथों पर मतदान के लिए लंबी लाइनें लगी है।

यहां जारी कई पोलिंग बूथों पर ईवीएम लगातार खराब होने की शिकायतें सामने आ रही हैं जिसके बाद आरोप लग रहे हैं कि इसके पीछे साजिश हो सकती है। सपा नेता राजेंद्र चौधरी ने कहा कि नूरपुर में 140 ईवीएम मशीनें खराब हुई हैं वो भी इसलिए की उन्हें टैंपर किया गया था। इसी तरह की रिपोर्ट्स कैराना से भी आ रही हैं। भाजपा गोरखपुर और फूलपुर में हुई हार का बदला लेना चाहती है।

वहीं रालोद की उम्मीदवार तबस्सुम ने वोट डालने के बाद आरोप लगाया कि हर जगह ईवीएम टैंपरिंग हुई है। मुस्लिम और दलित बहुल इलाकों में खराब ईवीएम बदली नहीं गईं हैं।

इससे पहले सुबह साढ़े नौ बजे कैराना पब्लिक इंटर कॉलेज मतदान स्थल पर भाजपा प्रत्‍याशी मृगांका सिंह ने वोट डाला। इससे पूर्व गन्‍ना राज्यमंत्री सुरेश राणा ने भी मतदान किया। कैराना में रालोद प्रत्याशी तबस्सुम हसन ने भी वोट डाला।

कैराना में एक बार फिर भाजपा और विपक्षी गठबंधन आमने-सामने है। फूलपुर और गोरखपुर सीटों पर हार के बाद भाजपा की नजर इस सीट को जीतने पर है। कैराना लोकसभा चुनाव के मैदान में भले ही 13 महारथी डटे हैं, लेकिन मुख्य मुकाबला दो प्रत्याशी के बीच ही है। इसमें मुख्य रूप से भाजपा प्रत्याशी मृगांका सिंह व राष्ट्रीय लोकदल की तबस्सुम हसन समेत कुल 13 प्रत्याशी ही चुनाव मैदान में रह गए हैं।

वहीं महाराष्ट्र के पालघर में भाजपा और शिवसेना आमने सामने हैं।

विधानसभा की 10 सीटों पर मतदान

लोकसभा के अलावा अलग-अलग राज्यों में विधानसभा की भी 10 सीटों पर उपचुनाव के लिए मतदान जारी है। इनमें कर्नाटक की राजराजेश्वरी, केरल की चेंगानूर के अलावा पंजाब की शाहकोट सीट, उत्तर प्रदेश की नूरपुर, महाराष्ट्र की पलुस कादेगांव, बिहार की जोकीहट, झारखंड की गोमिया और सिल्ली, मेघालय की अंपति, उत्तराखंड की थराली और पश्चिम बंगाल की मेहेशतला सीट पर मतदान हो रहा है।

कहां कौन है मैदान में

उत्तराखंड के थराली विधानसभा उपचुनाव के लिए भाजपा और कांग्रेस के साथ ही क्षेत्रीय दल उत्तराखंड क्रांति दल ने भी प्रचार में पूरी ताकत झोंकी।

भाजपा के मगनलाल शाह की मृत्यु के कारण खाली हुई थराली विधानसभा सीट सत्तारूढ़ दल की प्रतिष्ठा से जुड़ी है। भाजपा ने इस सीट से स्व. मगनलाल शाह की पत्नी मुन्नी देवी के प्रत्याशी बनाया है, जबकि कांग्रेस ने पूर्व विधायक जीतराम पर दांव लगाया है।

पश्चिम बंगाल के दक्षिण 24 परगना जिले की महेशतला विधानसभा सीट पूर्व विधायक कस्तूरी दास के निधन से खाली हुई थी। यहां से तृणमूल कांग्रेस ने कस्तूरी दास के पति दुलाल दास को उम्मीदवार बनाया है। वाममोर्चा की ओर से प्रभात चौधरी मैदान में हैं जबकि भाजपा ने सुजीत घोष को मैदान में उतारा है।

इसी तरह महाराष्ट्र की दो लोकसभा सीटों पालघर और भंडारा-गोंडिया पर भी उपचुनाव के लिए मतदान जारी है। जबकि नागालैंड में एक लोकसभा सीट पर मतदान हो रहा है।

Advertisements