भाजपा प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह को सरकारी बंगला ना मिलने से गेस्ट हाउस में रहने को मजबूर

Advertisements

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह के अलावा राज्य के तीन नए मंत्रियों, मानवाधिकार आयोग के अध्यक्ष,कलेक्टर सुदाम खाड़े सहित कई अधिकारियों को सरकारी बंगला नहीं मिल पा रहा है.निर्देशों के बाद भी पूर्व मंत्री और एमएलए सरकारी आवासों को खाली करते नजर नहीं आ रहे हैं.

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष के अलावा राज्य के तीन नए मंत्रियों, मानवाधिकार आयोग के अध्यक्ष,कलेक्टर सुदाम खाड़े सहित कई अधिकारियों को सरकारी बंगला नहीं मिल पा रहा है.भोपाल के कलेक्टर सुदाम खाड़े प्रशासनिक अकादमी में रह रहे है तो वहीं भाजपा प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह का ठिकाना फिलहाल भेल का रेस्ट हाउस है.वहीं बाहर से तबादला होकर भोपाल पहुंचे अधिकारियों को भी सरकारी बंगले नहीं मिल पाने से इधर-उधर रहना पड़ रहा है.निर्देशों के बाद भी पूर्व मंत्री और एमएलए सरकारी आवासों को खाली करते नजर नहीं आ रहे हैं.

बंगलों की कमी के चलते मंत्रियों और अधिकारियों को रेस्ट हाउस और प्रशासनिक अकादमी में रहना पड़ रहा है.भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह को अब तक बंगला नहीं मिल सका है.राकेश सिंह बीएचईएल के गेस्ट हाउस में रह रहे हैं.कैबिनेट मंत्री नारायण सिंह कुश्वाहा, मंत्री बालकृष्ण पाटीदार, राज्य मंत्री जालम सिंह पटेल सरकारी बंगले बिना रहे हैं.वहीं मानवाधिकार आयोग के अध्यक्ष राकेश सिंह, प्रमुख सचिव श्रम संजय दुबे को भी बंगला नहीं मिला है.पूर्व मंत्रियों और विधायकों का सरकारी बंगलों से मोहभंग नहीं हो रहा है. सालों से बड़े सरकारी बंगलों पर पूर्व मंत्रियों और विधायकों ने कब्जा कर रखा है. मंत्रियों पर बंगलों के लालच के चलते अब तक राज्य के नए मंत्रियों और अधिकारियों को बंगलें नहीं मिल पा रहे हैं.

Advertisements