Advertisements

MP में केवल घोषणाएं : प्रदेश सरकार पर जमकर बरसे कमलनाथ

नीमच। मध्य प्रदेश नंबर 1 है, लेकिन किसान आत्महत्या, महिला उत्पीड़न और कुपोषण के मामले में। यह बात पूर्व केंद्रीय मंत्री व कांग्रेस के प्रदेशाध्यक्ष कमल नाथ ने कही। वे मनासा के डाक बंगले पर मीडिया से चर्चा कर रहे हैं। यह बात उन्होंने एक सवाल के जवाब में कही।

कार्यकारी प्रदेश अध्यक्ष जीतू पटवारी और कांग्रेस जिलाध्यक्ष व पूर्व विधायक नंदकिशोर पटेल की मौजूदगी में नाथ ने कहा शिवराज सिंह चौहान ने मप्र के विकास के नाम पर सिर्फ घोषणाएं की। वादें किए। उनका यह क्रम अब भी जारी है। लेकिन घोषणाओं व वादों से हकीकत बेहद परे हैं। जनता अब वादे व घोषणाएं सुनने के पक्ष में नहीं है। वह सीधे जवाब चाहती है। 14 साल का हिसाब चाहती है।

यह भी बोले कमल नाथ

  • लोग कहते हैं शिवराज सिंह चौहान मेरे मित्र है। हां, वे मेरे हैं। लेकिन मित्र दो तरह के होते हैं लायक और नालायक। अब शिवराज खुद तय कर लें कि वे लायक है या नालायक।

  • विधानसभा चुनाव 2018 के पूर्व कांग्रेस सर्वे करा रही है। चर्चा कर राय ले रही है। हम जनता की पसंद व चाहत के अनुसार ही चुनावी समर में प्रत्याशी उतारेंगे।

  • विधानसभा चुनाव 2018 के लिए कांग्रेस मप्र का नक्शा तैयार करेगी। यह लेकर जनता के बीच जाएगी। वर्तमान में मप्र के विकास के लिए नीतियों में नहीं व्यवस्था में परिवर्तन की जरूरत है।

  • वर्तमान में प्रदेश में महिला असुरक्षित है, युवा बेरोजगार है और श्रमिकों को रोजगार नहीं मिल रहा है। सभी दूर परेशानियां ही परेशानियां है।

  • रिकॉर्ड देखिए पहले कांग्रेस के शासन में किसानों को समर्थन मूल्य मिलता था। लेकिन अब उन्हें समर्थन मूल्य मांगना पड़ता है। जो लोग किसानों को फसल या उपज का सही दाम नहीं दे पा रहे हैं लोग लागत के साथ 50 प्रतिशत मुनाफा देने की बात कह रहे हैं।

  • फसल बीमा से बीमा कंपनी को 12 हजार करोड़ का फायदा पहुंचाया गया। लेकिन फसल बीमा के नाम पर किसानों को कहीं 12 तो कहीं 24 स्र्पए मिले। ये किसानों की संख्या तो बताते हैं लेकिन राशि का खुलासा नहीं करते हैं।

  • नीमच ही नहीं समूचे प्रदेश में किसान व अन्य लोगों की आत्महत्या के मामले बढ़े हैं। कारण भी जगजाहिर है लेकिन राज्य सरकार ने इन्हें रोकने की बजाय आत्महत्या के आंकड़ों को छिपाने की कोशिशभर की है।

पूर्व सांसद व साहित्यकार के निवास पर पहुंचे, शोक संवेदना व्यक्त की

कमल नाथ मनासा में भाटखेड़ी रोड स्थित कवि नगर में पूर्व सांसद, मंत्री और साहित्यकार बालकवि बैरागी के निवास पर पहुंचे। यहां उन्होंने परिजनों से मुलाकात कर शोक संवेदना व्यक्त की। उनके साथ कांग्रेस नेता व पदाधिकारी भी बड़ी संख्या में पहुंचे थे। कुछ देर रुकने के बाद वे रवाना हो गए।

कोई किसी का आदमी नहीं

शोक संवेदना व्यक्त करने के बाद उन्होंने नगर के एक रिसोर्ट में कांग्रेस नेता, पदाधिकारियों व कार्यकर्ताओं से संवाद किया। उन्होंने संबोधन के दौरान कोई किसी का आदमी नहीं है। न मेरा और न ही किसी अन्य नेता। आप सब मिलकर 6 माह या चुनाव तक कांग्रेस की रक्षा करो। फिर मैं आपकी रक्षा करूंगा। टिकट जनता की पसंद के आधार पर ही दिए जाएंगे। इस दौरान अन्य नेताओं ने भी संबोधित किया।

पूर्व सांसद मीनाक्षी नटराजन, कुणाल चौधरी सहित नीमच-मंदसौर के तमाम नेता व कार्यकर्ता मनासा पहुंचे थे। मीडिया से चर्चा के दौरान धक्का-मुक्की व भीड़ अधिक होने के कारण नटराजन कक्ष में दाखिल नहीं हो सकी। उन्हें बाहर ही रूकना पड़ा। कमल नाथ के दौरान जावद के राजकुमार अहीर व मनासा के पूर्व विधायक विजेंद्र सिंह मालाहेड़ा ने शक्ति प्रदर्शन किया। उनके समर्थकों ने जोरदार नारेबाजी की।

आते-जाते समय हेलीपेड पर अव्यवस्थाएं

कमल नाथ निर्धारित समय से 2 मिनट पहले मनासा पहुंचे। उनके साथ कांग्रेस नेता चरणदास महंत भी थे। हवाई पट्टी पर उनके स्वागत के लिए बड़ी संख्या में कांग्रेस नेता व कार्यकर्ता मौजूद रहे। इसके बाद नगर में पूर्व सांसद के निवास पहुंचे। शोक संवेदना व्यक्त की। कांग्रेस पदाधिकारियों व कार्यकर्ताओं से मुलाकात के बाद मीडिया से चर्चा की और शाम करीब 4.05 बजे हेलीकॉप्टर से रवाना हो गए। आते-जाते समय हेलीपेड पर अव्यवस्थाएं रही। पुलिस प्रशासन के इंतजाम भीड़ को रोकने में विफल रहे।