रतलाम : जहरीला पानी पीने से महिला सरपंच सहित 3 लोगों की मौत

रतलाम। रावटी थाना क्षेत्र स्थित ग्राम पंचायत सेलज देवदा के ग्राम सेलज मईड़ा (फलिया) में जहरीला पानी पीने से सरपंच माया भूरिया सहित एक ही परिवार के तीन लोगों की मौत हो गई। मृतकों की मौत एक ही मटके का पानी पीने से होना बताया जा रहा है।

मटके में पूर्व में कीटनाशक रखने के चलते हादसा होने की आशंका है। सूचना मिलने पर पुलिस व चिकित्सा विभाग की टीम गांव में पहुंची और मटके के पानी के नमूने जांच में लिए। प्रारंभिक तौर पर हादसा मटके में कीटनाशक का इस्तेमाल करने के बाद उसी में पानी भर कर पीने से होना माना जा रहा है। फिलहाल पुलिस मामले की जांच कर रही है।

जानकारी के अनुसार सेलज देवदा ग्राम पंचायत की सरपंच माया भूरिया पति प्रभुलाल भूरिया (32) ने कुछ समय पहले मकान ग्राम रावटी में बना लिया है और पति के साथ वहीं रह रही थी। उनकी सास देवलीबाई भूरिया (65) सेलज मईड़ा में ही स्थित मकान में रहती थी। देवलीबाई मजदूरी के लिए गुजरात गई थी।

वह दो दिन पहले गुजरात से लौटी थी। रविवार सुबह उसने मकान के पीछे कपास के खेत के पास रखी मटकी को धोया और उसमें गांव में स्थित हैंडपंप से पानी भरकर लाई। उक्त मटकी का पानी पीने के बाद देवलीबाई की तबीयत बिगड़ गई। उन्हें रावटी के सरकारी अस्पताल ले जाया गया। हालत गंभीर होने पर जिला अस्पताल रेफर किया गया। दोपहर में उन्होंने दम तोड़ दिया।

परिजन समझे की गर्मी अधिक होने से देवलीबाई की तबीयत बिगड़ी होगी और शव घर ले गए। घर पर शव लाने पर पुत्रवधू सरपंच व अन्य परिजन विलाप कर रहे थे। कुछ लोगों ने उन्हें सांत्वना देकर शांत करने का प्रयास किया और किसी ने उक्त मटके का पानी लाकर सरपंच माया भूरिया, उसकी चचेरी ननद सीमा पिता लाहलिंग भूरिया (14) व काकी सास केसरीबाई पति लाहलिंग भूरिया को पिलाया। पानी पीने के बाद माया, सीमा व केसरीबाई की भी तबीयत बिगड़ और वे तीनों अचेत हो गई। तीनों को जिला अस्पताल लाकर भर्ती कराया गया, जहां सोमवार सुबह सवा छह बजे माया ने सुबह 10 बजे सीमा ने भी दम तोड़ दिया।

मटके में कीटनाशक का उपयोग करने की आशंका –

सरपंच पति प्रभुलाल ने बताया कि मटका काफी दिनों से रखा हुआ था। माया, सीमा व केसरीबाई के उसका पानी पीने से बीमार होने पर शंका हुई कि इनकी तबीयत पानी पीने से तो नहीं बिगड़ ही। मटके का पानी देखा तो पानी का रंग हल्का पीला था और उसमें से दुर्गंध आ रही थी। तब पता चला कि मटके के पानी पीने से सभी की तबीयत बिगड़ी थी। पुलिस के अनुसार प्रारंभिक तौर पर मटके में दूषित पानी होने से हादसा होने की बात सामने आई है। सही कारण क्या है, यह जांच के बाद पता चलेगा। फिलहाल मामले की जांच की जा रही है।