मौसम विभाग की एडवाइजरी-गर्दन के बाल खड़े हों तो समझो आने वाला है तूफान!

Advertisements

नेशनल डेस्क। दिल्ली समेत राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र (NCR) में आने वाले आंधी-तूफान को लेकर केजरीवाल सरकार ने एडवाइजरी जारी की है. आंधी-तूफान के दौरान किन-किन बातों का ध्यान रखना चाहिए. कौन-कौन चीजें करने से बचनी चाहिए, दिल्ली सरकार की एडवाइजरी में इसकी पूरी जानकारी दी गई है. एडवाइजरी के मुताबिक, दिल्ली सरकार के पब्लिक वर्क्स डिपार्टमेंट (PWD) ने लोगों से कहा कि वो आंधी-तूफान के अलर्ट के बीच नहाने से बचें. इतना ही नहीं, एडवाइजरी में यह भी कहा कि अगर आपकी गर्दन के बाल खड़े हो जाए, तो समझें कि तूफान आने वाला है.

पीडब्ल्यूडी विभाग ने इस एडवाइजरी की कॉपी ट्रैफिक पुलिस और स्टेट रेवेन्यू डिपार्टमेंट को भी भेजी है. एडवाइजरी में लोगों से कहा गया है, “आंधी-तूफान को लेकर सतर्क रहें. जरूरी न हो तो घरों से न निकलें. खुले में नहाने या शावर लेने या बहते पानी में नहाने से बचें. क्योंकि, पानी के पाइपों में से करंट आ सकता है.”

इसे भी पढ़ें-  PM मोदी की संपत्ति में 22 लाख का इजाफा, जानें कितने के मालिक हैं प्रधानमंत्री

आंधी-तूफान से पहले बरतें ये सावधानियां

>एडवाइजरी में आंधी-तूफान से बचने को लेकर टिप्स भी दिए गए हैं. इसमें कहा गया है कि सुरक्षा और जीने के लिए जरूरी सामानों को इकट्ठा कर एक किट तैयार करें.
>घर को सुरक्षित करने के लिए पूरी तरह से मरम्मत करवाएं. नुकीली चीजों से दूर रहें, क्योंकि ये हवा के साथ उड़ सकती हैं और आपकी आंखों को नुकसान पहुंचा सकती हैं.

नीचे लटक रहे पेड़, टहनियों को हटाएं ताकि किसी को चोट न लगे. मौसम से जुड़ी जानकारियां लगातार लेते रहें.

>मौसम संबंधी चेतावनियों पर नजर बनाए रखें. इस दौरान बाहर की यात्रा करने से बचें.
> घर के अंदर ही रहें और खुली जगहों पर जाने से परहेज करें. बिजली का कम से कम इस्तेमाल करें.
>बिजली से चलने वाले सभी उपकरणों की जरूरत न हो, तो इन्हें मेन स्विच से ऑफ कर दें. टेलीफोन-मोबाइल का कम से कम इस्तेमाल करें.

आंधी-तूफान आने पर करें ये काम

>एडवाइजरी के मुताबिक, आंधी-तूफान आने पर अपने घुटनों के बल जमीन पर बैठ जाए. सिर को नीचा कर लें.
>तेज आवाज में बात न करें. म्यूजिक सिस्टम का इस्तेमाल न करें.
>इस दौरान पेड़, ऊंची इमारतों से दूर रहें. टिन के छतों पर जाने से परहेज करें.
>आंधी-तूफान के दौरान अगर आप ड्राइव कर रहे हैं, तो उसे रोक दें. किसी सुरक्षित जगह पर चले जाएं.

आंधी-तूफान के बाद इन बातों का रखें ख्याल

>तूफान के थम जाने के बाद उन इलाकों में जाने से बचें जहां पर नुकसान हुआ है. मौसम और ट्रैफिक से जुड़े अपडेट्स के लिए रेडियो/टीवी देखें.
>महिलाओं, बच्चों, बुजुर्गों और दिव्यांगों का विशेष ध्यान रखें. आसपास का नुकसान देखकर इसकी तहसील या जिला मुख्यालय में शिकायत करें, ताकि जल्द ही उसे ठीक किया जा सके.

भारत के मौसम विभाग के मुताबिक, दिल्ली-एनसीआर में हवा की रफ्तार पहले से कम जरूर हुई है. रात में बारिश होने के आसार भी कम हुए हैं. लेकिन, बुधवार को हवा की गति फिर से तेज हो सकती है. ऐसे में आंधी-तूफान की आंशका से इनकार नहीं किया जा सकता.

इसे भी पढ़ें-  New Wage Code: 1 अक्टूबर से कम हो जाएगी सैलरी, छुट्टियां बढ़कर होंगी 300, जानें सरकार की नई योजना

बता दें कि पिछले हफ्ते आंधी-तूफान के चलते यूपी-राजस्थान में कम से कम 124 लोगों की मौत हो गई थी. 300 से ज्यादा लोग घायल हो गए थे. सबसे ज्यादा जानमाल का नुकसान यूपी के आगरा में हुआ, जहां करीब 45 लोगों की मौत हो गई. इस घटना के मद्देनजर अब 9 राज्यों में अलर्ट जारी किया गया है.

Advertisements