महिलाओं के कपड़ो पर नजर रखना कांग्रेस का स्वभाव : आनंदीबेन

Advertisements

अहमदाबाद। कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने एक संवाद कार्यक्रम में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ में महिला सदस्यों के नहीं होने का मुद्दा उठाया जिस पर पूर्व मुख्यमंत्री आनंदीबेन पटेल ने पलटवार किया। राहुल ने पूछा कि संघ की शाखा में कभी महिलाओं को हाफ पैंट पहनकर जाते देखा है, तो इसके जवाब में आनंदीबेन ने उनके संस्कारों पर ही सवाल उठा दिए।

राहुल गांधी मंगलवार को वडोदरा के महाराजा सयाजीराव विश्वविद्यालय में विद्यार्थियों से संवाद कर रहे थे। एक छात्रा के सवाल पर राहुल ने वाराणसी के बीएचयू की घटना का उल्लेख करते हुए कहा कि संघ और भाजपा की सोच ही ऐसी है कि महिला चुप रहे तब तक ठीक है, बोले तो चुप करा दो।

इसे भी पढ़ें-  Sports league Article 370: अनुच्छेद 370 के नाम पर स्पोर्ट्स लीग शुरू करेगी भाजपा, अमित शाह के संसदीय क्षेत्र में होगा आयोजन

उन्होंने पूछा कि आपने कभी संघ की शाखा में महिलाओं को हाफ पैंट पहनकर जाते देखा है, मैंने तो नहीं देखा। राहुल बोले संघ की नजर में महिलाओं के लिए कोई स्थान नहीं है। संघ में एक भी महिला सदस्य नहीं हैं। डभोई में आंगनवाड़ी व आशा वर्कर महिलाओं से चर्चा करते हुए राहुल ने कहा कांग्रेस शासित राज्य पंजाब व पुंडुचेरी में आंगनवाड़ी में काम करने वाली महिलाओं को गुजरात से अधिक वेतन दिया जाता है।

इसके जवाब में गुजरात की पूर्व मुख्यमंत्री आनंदीबेन ने कहा कि कांग्रेस का स्वभाव ही ऐसा है। वे महिलाओं के कपड़ों पर ही नजर रखते हैं। आनंदीबेन ने राहुल से अपने शब्द वापस लेकर गुजरात की महिलाओं से माफी मांगने को कहा है।

इसे भी पढ़ें-  Home Loan For Police Policy: नेताओं और पुलिस वालों को होम लोन देने से किसी ने मना नहीं किया: वित्त मंत्री

उन्होंने कहा कि गुजरात की महिलाएं संस्कारी व लघु उद्यम करने वाली हैं, स्वाभिमान से जीती हैं। राहुल ने ऐसी टिप्पणी कर उनका अपमान किया है। राहुल माफी नहीं मांगेंगे तो महिलाएं एकजुट होंगी और कांग्रेस बची-खुची सीटें भी खो देगी।

Advertisements