Advertisements

वाटसन के ठोका धमाकेदार शतक, चेन्‍नई की राजस्‍थान पर सुपर जीत

खेल डेस्क। शेन वाटसन ने शुरू में मिले दो जीवनदान का पूरा फायदा उठाकर अपने टी20 करियर का चौथा शतक जमाया जिससे चेन्नई सुपरकिंग्स ने आईपीएल मैच में राजस्थान रॉयल्स को 64 रन से करारी शिकस्त देकर फिर से जीत की राह पकड़ी. सलामी बल्लेबाज वाटसन ने 57 गेंदों पर 106 रन बनाये जिसमें नौ चौके और चार छक्के शामिल हैं. उन्होंने सुरेश रैना (29 गेंदों पर नौ चौकों की मदद से 46 रन) के साथ दूसरे विकेट के लिये 81 रन और ड्वेन ब्रावो (नाबाद 24) के साथ पांचवें विकेट के लिये 41 रन जोड़े. इससे अपने नये घरेलू मैदान पर खेल रहे चेन्नई ने पहले बल्लेबाजी का न्यौता मिलने पर पांच विकेट पर 204 रन बनाये.

इसके जवाब में रॉयल्स की टीम 18.3 ओवर में 140. रन पर सिमट गयी. उसकी तरफ से बेन स्टोक्स ने सर्वाधिक 45 रन बनाये. चेन्नई की यह चार मैचों में तीसरी जीत जबकि रॉयल्स की पांच मैचों में तीसरी हार है. चेन्नई की तरफ से दीपक चहर (30 रन देकर दो) ने रॉयल्स का शीर्ष क्रम झकझोरा जबकि ड्वेन ब्रावो (16 रन देकर दो) ने मध्यक्रम लड़खड़ाया. शार्दुल ठाकुर (18 रन देकर दो) और कर्ण शर्मा (13 रन देकर दो) ने दो-दो विकेट लिये जबकि वाटसन और इमरान ताहिर ने एक-एक विकेट लिया.

रॉयल्स ने बड़े लक्ष्य के सामने तीन ओवर तक हेनरिच क्लासे (सात) और संजू सैमसन (दो) के विकेट गंवा दिये. रहाणे के खिलाफ महेंद्र सिंह धोनी की डीआरएस की मांग सही नहीं निकली लेकिन रॉयल्स का कप्तान इसका फायदा नहीं उठा पाया. चाहर ने शार्ट पिच गेंद पर उन्हें बोल्ड करके स्कोर तीन विकेट पर 32 रन कर दिया. इसके बाद जोस बटलर और स्टोक्स ने चौथे विकेट के लिये 45 रन जोड़े लेकिन दस ओवर के बाद रॉयल्स के स्कोर तीन विकेट पर 77 रन था जिसमें ड्वेन ब्रावो के अगले ओवर की पहली गेंद एक और विकेट जुड़ गया. बटलर उनकी आफ कटर की तेजी को नहीं समझ पाये और उन्होंने स्लिप में हवा में लहराता आसान कैच दिया.

बढ़ते रन रेट का दबाव बल्लेबाजों पर साफ दिख रहा था. राहुल त्रिपाठी (पांच) ने सैम बिलिंग्स को कैच थमाया जबकि स्टोक्स ने इमरान ताहिर पर लगातार दूसरा छक्का जड़ने के प्रयास में इसी क्षेत्ररक्षक को सीमा रेखा पर कैच दिया. इसके बाद चेन्नई की जीत महज औपचारिकता रह गयी थी.

इससे पहले चेन्नई ने पहले 13 ओवर में लगभग 11.50 के रन रेट से रन बनाकर स्कोर 150 रन पर पहुंचा दिया था लेकिन अंतिम सात ओवरों में उसने केवल 7.71 के रन रेट से 54 रन बनाये. रॉयल्स के गेंदबाजों विशेषकर श्रेयस गोपाल (20 रन देकर तीन विकेट) और बेन लाफलिन (38 रन देकर दो विकेट) ने डेथ ओवरों में चेन्नई को तेजी से रन नहीं बनाने दिये. लंबे समय तक रॉयल्स का अहम अंग रहे 36 वर्षीय वाटसन ने अपनी इस पूर्व टीम के कमजोर आक्रमण और लचर क्षेत्ररक्षण का पूरा फायदा उठाया. उन्हें पहले दो ओवरों में दो जीवनदान मिले. दोनों अवसरों पर त्रिपाठी ने उनका कैच छोड़ा. इनमें से पहला कैच काफी आसान था.

त्रिपाठी की इस गलती की सजा रायल्स के गेंदबाजों को भुगतनी पड़ी. वाटसन ने अगले ओवर में जयदेव उनादकट पर दो खूबसूरत छक्के लगाये. वाटसन ने अंबाती रायुडु के साथ पहले विकेट के लिये 50 रन जोड़े. इसमें रायुडु का योगदान केवल 12 रन था जिन्होंने विकेट के पीछे आसान कैच दिया.

इससे रॉयल्स की परेशानी समाप्त नहीं हुई क्योंकि पहले दो मैचों में नाकाम रहने और पिछले मैच में बाहर बैठने वाले रैना ने बेन स्टोक्स पर लगातार चार चौके लगाकर अपनी जीवंत उपस्थिति दर्ज करायी. बायें हाथ का यह बल्लेबाज हालांकि अर्धशतक से चूक गया. गोपाल की गेंद पर गौतम ने उनका कैच लेने के बाद इसी गेंदबाज के अगले ओवर में महेंद्र सिंह धोनी (पांच) का शॉट भी कैच में बदला.

गोपाल ने सैम बिलिंग्स (तीन) को भी आते ही पवेलियन की राह दिखायी, लेकिन वाटसन ने एक छोर संभाले रखा. उन्होंने आखिरी ओवर की पांचवीं गेंद पर आउट होने से पहले 51 गेंदों पर अपना शतक पूरा किया जो आईपीएल में उनका तीसरा सैंकड़ा है.

Loading...
Hide Related Posts