13 अक्तूबर को बंद रहेंगे 54000 पेट्रोल पंप, नहीं मिलेगा पेट्रोल-डीजल

Advertisements

नई दिल्ली। यूनाइटेड पेट्रोलियम फ्रंट (यूपीएफ) ने 13 अक्टूबर को राष्ट्रव्यापी हड़ताल पर जाने की घोषणा की है। संगठन ने मार्जिन बढ़ाने और पेट्रोलियम उत्पादों को वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) के दायरे में लाने समेत विभिन्न मांगों के समर्थन में हड़ताल बुलाई है।

यूपीएफ ने कहा है कि अगर उनकी मांगें जल्द नहीं मानी गईं तो डीलर 27 अक्टूबर से अनिश्चितकाल के लिए पेट्रोलियम उत्पादों की खरीद और बिक्री रोक देंगे।

यूपीएफ फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया पेट्रोलियम ट्रेडर्स, द ऑल इंडिया पेट्रोलियम डीलर्स एसोसिएशन और द कंसोर्टियम ऑफ इंडियन पेट्रोलियम डीलर्स का प्रतिनिधित्व करता है। इसके अंतर्गत 54,000 से ज्यादा डीलर आते हैं।

फ्रंट ने कहा कि पिछले साल नवंबर में हुए समझौते के बाद भी सरकार तेल विपणन कंपनियां लंबे समय से मांगों की अनदेखी कर रही हैं। डीलरों की मांग है कि डीलर मार्जिन की समीक्षा हर छह महीने में होनी चाहिए।

इन्वेस्टमेंट पर रिटर्न को लेकर बेहतर प्रावधान, मैनपावर से जुड़े मुद्दों का समाधान, हैंडलिंग लॉस का नए सिरे से अध्ययन और परिवहन व एथनॉल मिलाने से जुड़े मुद्दों के हल की मांग भी यूपीएफ ने की है।

फ्रंट ने बताया कि तेल विपणन कंपनियों को लिखे गए पत्रों का कोई सकारात्मक जवाब नहीं मिला है।

Advertisements