जूस के बहाने ताया ने 11 साल के मासूम को पिला दिया तेजाब

Advertisements

मंडी। मंडी जिले में रविवार को एक बेहरम ताया द्वारा 11 साल के बच्चे को तेजाब पिलाने का मामला सामने आया है. आरोप है ताया ने मासूम को जूस के बहाने तेजाब पिला दिया, जिससे बच्चे का चेहरा बुरी तरह से झुलस गया. बताया जाता है वारदात के बाद से आरोपी फरार है.

yashbharat

मामला नाचन क्षेत्र स्थित रजवाड़ी पंचायत के चमकवाली गांव का है. आरोपी ताया जयराम तरौर स्कूल में चौकीदार है, जिसने भूमि विवाद के चलते बच्चे को जूस की जगह तेजाब पिला दिया. तेजाब पीने से बच्चे का मुंह बुरी तरह से झुलस गया है और वह खाने-पीने व बोलने में लाचार है. पुलिस ने आरोपी के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है और आरोपी की तलाश में टीम भी गठित की है.

इसे भी पढ़ें-  कोविड के लिए आएगी नयी एंटीवायरल दवा, इंसानों पर ट्रायल जारी

जानकारी के अनुसार, 11 वर्षीय पीड़ित मासूम उदय रजवाड़ी स्कूल में छठी में पढ़ता है. शनिवार दोपहर बाद उसके परिजन खेत में काम करने गए थे तभी करीब तीन बजे आरोपी ताया  उसके घर आया और उसे घर से कुछ दूरी पर बावड़ी के पास ले गया, जहां बोतल में रखे तेजाब को जूस बताकर उसने मासूम को दे दिया.

मासूम उदय ने तेजाब से भरे बोतल से एक ही घूंट गले से नीचे उतारा ही था कि उसे गर्मी व जलन का अहसास हुआ और वह बोतल फेंककर भाग निकला और ठंडा पानी पीने से भी आराम नहीं मिला तो परिजन को आपबीती सुनाई. परिजन उसे दयारगी स्थित निजी क्लीनिक ले गए, जहां अब उसका इलाज हो रहा है.
मंडी अस्पताल में भर्ती है उदय
पीड़ित मासूम को प्राथमिक उपचार के बाद रत्ती अस्पताल भेज दिया गया है, जहां उसकी गंभीर हालत को देखते हुए डॉक्टरों ने उदय को क्षेत्रीय अस्पताल मंडी रेफर कर दिया है. उदय की दादी सती देवी की शिकायत पर बल्ह पुलिस ने जयराम के खिलाफ केस दर्ज किया है. मंडी के एसपी गुरदेव शर्मा ने बताया कि आरोपी जयराम पर केस दर्ज कर लिया है और उसकी तलाश की जा रही है.

इसे भी पढ़ें-  Delhi Rohini Court Gangwar : बदमाशों ने कोर्ट रूम में गैंगस्टर को मारी गोली, पुलिस कार्रवाई में दोनों ढेर, Video

जमीन विवाद तेजाब पिलाने के पीछे कारण
बताया जाता है आरोपी ताया ने बीते वर्ष उदय के पिता के खेतों से टमाटर की 1500 पौधे नष्ट कर दिए थे. आरोपी इससे पहले भी पीड़ित परिवार को नुकसान को पहुंचाने की कोशिश कर चुका है. वह जमीन हड़पने की भी फिराक में है. पूरा विवाद जमीन को लेकर बताया जा रहा है.

Advertisements