उन्नाव-कठुआ रेप केस पर बोले PM मोदी, ‘ऐसी घटनाओं से पूरा देश शर्मसार’

Advertisements

नई दिल्ली। उन्नाव और कठुआ की घटनाओं के खिलाफ बढ़ती लोगों की नाराजगी और गरमाते राजनीतिक माहौल के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आश्वस्त किया है कि कोई भी अपराधी नहीं बचेगा। शुक्रवार को दिल्ली के अलीपुर रोड में अंबेडकर नेशनल मेमोरियल का उद्घाटन करने के बाद मोदी ने कहा कि न्याय होगा और पूरा होगा। उन्होंने हर किसी से इस बुराई को खत्म करने के लिए एकजुट होने की अपील की है।

वैसे तो उन्नाव और कठुआ में हुई दुष्कर्म की घटनाओं पर कार्रवाई शुरू हो चुकी है। लेकिन, पिछले दिनों में यह राजनीतिक रंग भी ले चुका है। एक दिन पहले ही कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने इंडिया गेट पर कैंडल मार्च भी किया था। ऐसे में प्रधानमंत्री ने भरोसा दिलाया कि कोई भी दोषी नहीं बचेगा।

उन्होंने कहा कि किसी राज्य में, किसी क्षेत्र में होने वाली ऐसी वारदातें हमारी मानवीय संवेदनाओं को झकझोर देती हैं। ऐसी घटनाएं सामाजिक न्याय की अवधारणा को चुनौती देती हैं। एक समाज के रूप में, एक देश के रूप में हम सब इसके लिए शर्मसार हैं।

बच्चियों से दुष्कर्म में फांसी देने की तैयारी-

इसे भी पढ़ें-  नए संसद भवन के निर्माण स्थल पर अचानक पहुंचे PM मोदी, करीब घंटे भर तक लिया काम का जायजा

जम्मू के कठुआ में आठ साल की बच्ची के साथ सामूहिक दुष्कर्म और हत्या के बाद देशभर में उपजे आक्रोश को देखते हुए केंद्र सरकार कठोर कानून बनाने पर विचार कर रही है। केंद्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्री मेनका गांधी ने कठुआ की घटना पर अफसोस जताते हुए कहा, “मंत्रालय पॉक्सो कानून में संशोधन कर 12 वर्ष से कम उम्र की बच्चियों से दुष्कर्म मामले में फांसी की सजा का प्रावधान करने पर विचार कर रहा है।”

पॉक्सो में बच्चों के हर तरह के यौन उत्पीड़न और बाल पोर्नोग्र्राफी में दंड का प्रावधान है। महिला एवं बाल विकास मंत्रालय के सूत्र के मुताबिक, काम की जो रफ्तार है, उससे लगता है कि एक-डेढ़ सप्ताह में पॉक्सो कानून में संशोधन का मसौदा फाइनल करके कानून मंत्रालय को भेज दिया जाएगा। कानून मंत्रालय से मसौदा मंजूर होने के बाद सरकार संसद सत्र नहीं होने के चलते इस बारे में अध्यादेश भी ला सकती है।

इसे भी पढ़ें-  पंजाब कांग्रेस का घमासान: अमरिंदर से कप्तानी छीनने वाले नवजोत सिद्धू ने प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष पद छोड़ा

कई राज्यों में है कठोर कानून-

-हरियाणा, मध्य प्रदेश और राजस्थान सरकार पहले ही 12 साल से कम उम्र की बच्चियों से दुष्कर्म में फांसी की सजा का प्रावधान कर चुकी हैं।

-लेकिन, पॉक्सो एक केंद्रीय कानून है। भारत सरकार द्वारा कानून में संशोधन किए जाने के बाद यह व्यवस्था पूरे देश में लागू हो जाएगी।

-कठुआ और उन्नाव की घटनाओं ने राजनीतिक रंग ले लिया है। विपक्ष इन घटनाओं पर केंद्र को भी घेरने का प्रयास कर रहा है।

-ऐसे में केंद्र सरकार की ओर से पॉक्सो कानून में संशोधन कर इसके प्रावधान सख्त करने का संदेश राजनीतिक रूप से भी अहम होगा।

कठुआ कांड में BJP के दो कैबिनेट मंत्रियों ने दिया इस्तीफा-

कठुआ जिले में बच्ची से दुष्कर्म और हत्या को लेकर जम्मू-कश्मीर सरकार में शामिल भाजपा के दो कैबिनेट मंत्रियों उद्योग मंत्री चंद्र प्रकाश गंगा और वन मंत्री चौधरी लाल सिंह ने शुक्रवार शाम को इस्तीफा दे दिया। इस मामले में सीबीआइ जांच की मांग को लेकर कठुआ जिला में हुए प्रदर्शन में इन दोनों मंत्रियों के शामिल होने के बाद से ही ये दोनों मंत्री विपक्ष और सहयोगी पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) के निशाने पर थे।

इसे भी पढ़ें-  बिजली गिरने से छह लोगों की मौत, सीएम ने किया 4 लाख रुपये मुआवजे का एलान

हाई कोर्ट ने कहा, उन्नाव कांड के सभी आरोपितों को गिरफ्तार करो-

उत्तर प्रदेश में उन्नाव सामूहिक दुष्कर्म कांड के आरोपित भाजपा विधायक कुलदीप सेंगर को सीबीआइ ने शुक्रवार सुबह करीब चार बजे उनके घर से हिरासत में लिया। उधर, इलाहाबाद हाई कोर्ट को राज्य सरकार ने बताया कि विधायक को हिरासत में ले लिया गया है। इस पर कोर्ट ने कहा कि उन्हें गिरफ्तार किया जाए। कोर्ट ने मामले से जुड़े अन्य आरोपितों को भी गिरफ्तार करने और दो मई तक प्रगति रिपोर्ट पेश करने का आदेश दिया।

Advertisements