नर्मदा किनारे बिताए 192 दिन, भावुक हुईं अमृता राय

Advertisements

भोपाल। मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के महासचिव दिग्विजय सिंह छह महीने लम्बी नर्मदा परिक्रमा पूरी कर ली है. इस दौरान उनकी पत्नी पूरे समय उनके साथ मौजूद रहीं.

न्यूज18 से एक्सक्लूसिव बातचीत में अमृता राय ने कहा कि हमारे लिए ये आध्यात्मिक यात्रा थी. लेकिन इसके साथ ये मेरे लिए सामाजिक यात्रा भी रही. हमने नर्मदा किनारे के समाज और संस्कृति को देखा समझा. उनके स्नेह की पूंजी को वापस लेकर लौट रही हूं. अमृता ने कहा कि मैं आज भावुक हूं.

इससे पहले दिग्विजय सिंह ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान पर हमला बोला. उन्होंने कहा कि शिवराज ने नर्मदा की परिक्रमा नहीं बल्कि सरकारी यात्रा की है. नरसिंहपुर जिले के बरमान घाट पर पूरी हो रही दिग्विजय सिंह की नर्मदा यात्रा के खास मौके पर दिग्विजय सिंह ने कहा कि उनकी भविष्य में कांग्रेस में क्या भूमिका होगी यह राहुल गांधी तय करेंगे.

इसे भी पढ़ें-  Lokayukta Raid: लोकायुक्‍त टीम ने पंचायत समन्वयक अधिकारी ओमप्रकाश राठौर को रिश्‍वत लेते पकड़ा

मध्य प्रदेश में कांग्रेस के मुख्यमंत्री चेहरे को प्रोजेक्ट करने की बात पर उन्होंने कहा कि केन्द्रीय नेतृत्व ही इस बात का निर्णय करेगा. उन्होंने यह भी कहा कि मेरी भविष्य में क्या भूमिका होगी इसका निर्णय भी राहुल गांधी और सोनिया गांधी ही तय करेंगे.

दिग्विजय सिंह ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान पर हमला बोलते हुए कहा कि शिवराज ने सरकारी यात्रा की, नर्मदा की परिक्रमा नहीं की. मां नर्मदा की जो हालत है उसका तो मैं ये ही कहूंगा कि 25000 साल से जो मां नर्मदा का स्वरूप था वो अब नहीं रहा. उसमें बांध बन चुके हैं. धारा का प्रवाह कम हुआ है. इस बारे में विचार करना चाहिए.

इसे भी पढ़ें-  Lokayukta Raid: लोकायुक्‍त टीम ने पंचायत समन्वयक अधिकारी ओमप्रकाश राठौर को रिश्‍वत लेते पकड़ा

दिग्विजय सिंह ने यात्रा पूरी करने के बाद कहा कि मां नर्मदा की कृपा से हमारी यात्रा निर्विघ्न रूप से पूरी हुई. एमपी में साधुओं को राज्यमंत्री का दर्जा दिए जाने पर उन्होंने कहा कि ये राज्य सरकार का विवेक है. उन्होंने ये निर्णय लिया है, अब उनके (मंत्री बने साधुओं के) अधिकार क्षेत्र डिफाईन किए जाने चाहिए.

Advertisements