वजन कम करना है तो यूं करें सेब के सिरके का सेवन

Advertisements

सेब के सिरके का इस्तेमाल खाने और स्लाद का स्वाद बढ़ाने के लिए किया जाता है। कुछ लोग वजन कम करने के लिए भी सेब के सिरका पीते हैं लेकिन इसके अलावा यह कई बीमारियों को भी दूर करने में मदद करता है। आज हम आपको बताएंगे कि किस तरह सेब के सिरके का सेवन करने से आप गठिया, मोटापे से लेकर ब्लड प्रैशर को कंट्रोल कर सकते हैं। इसके अलावा सेब के सिरके का काढ़ा लीवर को डिटॉक्स करके भी आपको कई बीमारियों से बचाता है। तो चलिए जानते है बीमारियों को दूर करने के लिए किस तरह करें सेब के सिरके का सेवन।
इस तरह बनाएं सेब के सिरके का काढ़ा
एक पैन में 1 कप पानी गर्म करके उसमें 1 छोटे अदरक का टुकड़ा डालकर उबाल लें। इसके बाद इसमें 1 टीस्पून एप्पल साइडर विनेगर, 1 टेबलस्पून शहद और 1 टेबलस्पून हल्दी डालकर कुछ देर अच्छी तरह पकाएं। पकाने के बाद इसे ठंडा करके बर्फ डालकर पीएं।
इससे दूर होनी वाली प्रॉब्लम
1. मोटापा घटाएं
सेब का सिरका बेहद अम्लीय और एसिडिक होता है, जोकि वजन तेजी से कम करने में मदद करता है। वजन कम करने में लिए 1 गिलास गर्म पानी में 2 चम्मच सिरका मिलाकर खाली पेट पीएं।

yashbharat

  1. मतली या उल्टी आना
    एप्पल साइडर विनेगर, अदरक, हल्दी और शहद का काढ़ा बनाकर पीने से उल्टी आना या मतली जैसी प्रॉब्लम भी दूर हो जाती है।

PunjabKesari

  1. लीवर को डिटॉक्स करना
    इस काढ़े का रोजाना सेवन आपके लीवर से विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालकर डिटॉक्स करता है। इससे आप लीवर से संबंधी और कई बीमारियों से बचे रहते हैं।

yashbharat

  1. ब्लड शुगर कंट्रोल
    ब्लड शुगर कंट्रोल करने के लिए सेब का सिरका सबसे अच्छा तरीका है। रोजाना इसे एप्पल साइडर विनेगर, हल्दी अदरक और शहद का बना काढ़ा पीने से ब्लड शुगर कंट्रोल में रहती है।

yashbharat

  1. गठिया
    एंटीऑक्सीडेंट, कैटेचिन और गैलिक एसिड के गुणों से भरपूर सिरका और हल्दी गठिया रोग को दूर करने में मदद करता है। इसलिए जोड़ों, कमर और घुटनों के दर्द से बचने के लिए रोज इस काढ़े का सेवन जरूर करें।

yashbharat

  1. बैक्टीरिया से बचाव
    एसिटिक एसिड से भरपूर सेब के सिरके से बने इस काढ़े का सेवन हानिकारक बैक्टीरिया को मारकर शरीर की बीमारियों से सुरक्षा करता है। इसके अलावा इससे पेट की कीड़े भी मर जाते है, जिससे पाचन क्रिया दुरुस्त रहती है।

yashbharat

Advertisements