38 मृतक भारतीयों के परिजनों को मुआवजे पर वीके सिंह ने कही ये बात, भड़के मीडिया कर्मी

Advertisements

अमृतसर  विदेश राज्यमंत्री वी.के. सिंह सोमवार दोपहर ईराक से 38 भारतीयों के शवों के अवशेष लेकर भारत लौट आए। उनका स्पैशल प्लेन अमृतसर में लैंड हुआ। वहीं घटनाक्रम पर एक लम्बे वर्णन के बीच एक मीडिया कर्मी ने पूछा कि मृतकों के परिजनों को राहत के तौर पर नौकरी इत्यादि कब दी जाएगी तो सिंह ने कहा कि ‘राहत कोई बिस्कुट नहीं जो दे दिया जाए’। इस पर मीडियाकर्मी भड़क गए।

हरदीप मसीह पर जवाब नहीं दे पाए सिंह
मीडिया कर्मियों द्वारा बार-बार हरदीप मसीह की पूर्व जानकारी पर प्रश्न करते हुए कहा गया कि यदि मसीह की जानकारी पर उस समय शीघ्र अमल हो जाता तो उनकी जानें बच सकती थीं किन्तु सिंह बार-बार इस पर जवाब से बचते रहे। बता दें कि सिंह ने ईराक में खुद विमान में 38 ताबूतों को रखने में सहारा दिया। उन्होंने ट्वीट किया कि कुछ जिम्मेदारियों का बोझ काफी ज्यादा होता है। बता दें कि ईराक के मोसुल में आई.एस. ने 39 भारतीयों की हत्या कर दी थी लेकिन एक का डी.एन.ए. पूरी तरह से मैच नहीं करने के चलते वहां से क्लीयरैंस नहीं मिली है।

Advertisements

इसे भी पढ़ें-  Bhopal Crime News: सिपाही का आरोप- एसपी व महिला अधिकारी ने डंडों से पीटा, निलंबन की धमकी दी