अब 10 हजार रु. प्रतिदिन से ज्यादा नकद खर्च नहीं कर सकेंगे व्यापारी

Advertisements

इंदौर। नए वित्त वर्ष के साथ ही कारोबारियों पर नकद खर्च की नई सीमा भी लागू हो गई है। पहले के मुकाबले नकद खर्च की सीमा को घटाकर आधा कर दिया गया है। 31 मार्च तक प्रतिदिन 20 हजार रुपए प्रति व्यक्ति नकद खर्च कर सकते थे। नए वित्त वर्ष के लागू होने के साथ ही यह सीमा 10 हजार रुपए हो गई है।

सीए स्वप्निल जैन के मुताबिक वित्त वर्ष 2018-19 में नई सीमा लागू हो गई है। इसका सीधा मतलब है कि कारोबारी किसी व्यक्ति को एक दिन में अधिकतम 9 हजार 999 रुपए नकद दे सकेगा। इसका असर तमाम कारोबारियों और व्यापारियों पर पड़ना है। इसके जरिए सरकार की मंशा बुक्स में नकद खर्च की एंट्री के जरिए किए जाने वाले हेरफेर को काबू करने की है।

इसे भी पढ़ें-  बीजेपी में शामिल होंगे कैप्टन अमरिंदर सिंह? अमित शाह और जेपी नड्डा से मिलने आ रहे हैं दिल्ली

नियम लागू होने से इसका असर नजर भी आएगा। 10 हजार या ज्यादा राशि किसी को देना या खर्च करना होगी तो कारोबारी को चेक या अन्य बैंकिंग ट्रांजेक्शन के जरिए देना होगी। ऐसे में गलत एंट्री या हेरफेर करना मुश्किल हो जाएगा। इसके साथ ही किसी भी व्यक्ति के एक दिन में 2 लाख या इससे ज्यादा नकद नहीं स्वीकार करने का नियम भी पहले से लागू है। ये दोनों नियम संयुक्त तौर पर बड़ा असर डालेंगे।

Advertisements