बड़ी मुठभेड़: सुरक्षाबलों ने ढेर किए 11 आतंकी, 3 जवान भी शहीद

Advertisements

श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर के शोपियां में सुरक्षा बलों को बड़ी कामयाबी हाथ लगी है। सुरक्षाबलों ने 11 आतंकियों को मार गिराया है। हालांकि आतंकियों से लोहा लेते हुए सेना के 3 जवान शहीद हो गए हैं। जानकारी के मुताबिक सभी सातों आतंकी स्थानीय निवासी ही थे और सभी को उनके रिश्तेदारों ने पहचान लिया है।

अनंतनाग और शोपियां मुठभेड़ पर जम्मू कश्मीर के डीजीपी एसपी वैद ने कहा, ‘एक स्थानीय नागरिक की मौत द्रगड मुठभेड़ में हुई है, जबकि एक की मौत कछडूरा मुठभेड़ के दौरान हुई है। 25 स्थानीय नागरिकों को पैलेट से जख्मी हुई है, जबकि छह लोगों को बुलेट से चोटें आई हैं।

सेना की ओर से बताया गया है कि मारे गए 11 आतंकवादियों में से दो आतंकी लेफ्टिनेंट उमर फयाज की हत्या में शामिल थे।

इसे भी पढ़ें-  LIVE Punjab Congress News : कैप्‍टन अमरिंदर सिंह ने दिया इस्‍तीफा, मीडिया से कहा मैंने अपमानित महसूस किया

जम्मू-कश्मीर में अनंतनाग के बाद अब शोपियां में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़ चल रही है। बताया जा रहा था कि देर रात से शोपियां में दो जगहों पर सुरक्षा बलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़ चल रही है। शोपियां के कचडोरा क्षेत्र और डरागढ़ गांव में यह मुठभेड़ चल रही थी। बताया जा रहा है कि दक्षिण कश्मीर के अनंतनाग जिले में सुरक्षा बलों के साथ रविवार तड़के सुबह हुई मुठभेड़ में एक आतंकवादी मारा गया जबकि शोपियां जिले में हुई मुठभेड़ में सेना ने दस आतंकवादियों को मार गिराया है।

पुलिस के अनुसार आतंकियों की सूचना मिलने के बाद पूरे इलाके की घेराबंदी कर ली गई थी। दोनों ओर से जमकर गोलीबारी की गई। मारे गए सभी सातों आतंकियों की पहचान कर ली गई है। सभी शोपियां के ही रहने वाले थे। जिनमें से दो आतंकी लेफ्टिनेंट उमर फयाज की हत्या में भी शामिल थे। इसे सेना की बड़ी कामयाबी माना जा रहा है।

इसे भी पढ़ें-  कटनी जीआरपी की अमानवीय हद, पंचनामा के लिए अस्पताल से स्ट्रेचर पर घसीटते हुए स्टेशन मंगवाई लाश

जानकारी के मुताबिक देर रात शोपियां में आतंकियों ने गश्त पर निकली सेना की गाड़ी पर हमला बोल दिया था। हमले के बाद सेना ने इलाके की घेराबंदी कर दी गई। जिसके बाद घंटों चली मुठभेड़ के बाद सेना ने सभी आतंकियों को मार गिराया।

लश्कर का टॉप कमांडर ढेर –

इस मुठभेड़ में आतंकी संगठन लश्कर-ए तैयबा का टॉप कमांडर भी मारा गिराया गया है। जीनत-उल इस्लाम मौजूदा वक्त में कश्मीर में आतंक का बड़ा चेहरा बन गया था। शोपियां के जानीपुरा का रहने वाला जीनत नवंबर 2015 को आतंकी संगठन के साथ जुड़ा था और पिछले दो सालों से 10 मोस्ट वॉन्टेड आंतकियों की लिस्ट में उसका नाम शामिल था। रऊफ का शव उसके परिवार को सौंप दिया गया है।

इसे भी पढ़ें-  Lokayukta Raid: लोकायुक्‍त टीम ने पंचायत समन्वयक अधिकारी ओमप्रकाश राठौर को रिश्‍वत लेते पकड़ा

बता दे कि इससे पहले देर रात अनंतनाग में मुठभेड़ के दौरान सुरक्षाबलों ने एक आतंकी को मार गिराया था। वहीं, सुरक्षाबल एक आतंकी को जिंदा पकड़ने में भी कामयाब हो गए, जिससे पूछताछ की जा रही है। अनंतनाग मुठभेड़ में मारे गए आतंकी का नाम रऊफ खांडे है, जो आतंकी संगठन हिजबुल मुजाहिदीन से जुड़ा था।

Advertisements