जबलपुर के रेल इतिहास में एक नया अध्याय जुड़ा, इलेक्ट्रिक इंजन के साथ रवाना हुई इंटरसिटी EXP

जबलपुर। जबलपुर के रेल इतिहास में एक नया अध्याय जुड़ा जब पहली बार यहां से ट्रेन को बिजली से चलने वाला रेल इंजन लेकर रवाना हुआ।  इस एतिहासिक क्षण के साक्षी बने तमाम रेल अधिकारियों के साथ हमेशा के लिए जबलपुर हबीबगंज इंटरसिटी ट्रेन भी स्वर्णिम इतिहास में जुड़ गई।

डीआरएम डा़ मनोज सिंह ने हरी झंडी दिखाकर इलेक्ट्रिक इंजन लगी इंटरसिटी एक्सप्रेस को रवाना किया। गौरतलब है कि जबलपुर इटारसी रेल खंड के विद्युतीकरण का कार्य कुछ समय पूर्व ही पूरा कर लिया गया था। जबलपुर से चलने वाली तमाम एक्प्रेस ट्रेनों में अब इलेक्ट्रिक इंजन लगाया जा सकेगा।

जल्द ही कटनी जबलपुर रेलखंड पर भी विद्याुतीकरण का कार्य पूर्ण होने की उम्मीद है। जिसके बाद जबलपुर से कटनी होते हुए दिल्ली तक का  पूरा रेल मार्ग विद्युतीकृत हो जाएगा।

कटनी से रायपुर तथा बीना रेलमार्ग पहले ही इलेक्ट्रिीफिकेशन के साथ चल रहा है। पश्चिम मध्य रेल्वे की दूसरी प्राथमिकता कटनी से नैनी रेलमार्ग के जल्द से जल्द विद्याुतीकृत करने की है। यह काम भी तेज गति से चल रहा है।

कुलमिलाकर जबलपुर कटनी सतना इटारसी, बीना, शहडोल अर्थात चारों दिशाओं में रेल विद्याुतीकरण पूर्ण हो जाएगा। इलेक्ट्रिीफिकेशन होने का फायदा रेल यात्रियों को मिलेगा इससे ट्रेनों की रफ्तार तो बढ़ेगी ही कई प्रीमियम ट्रेने भी इस रास्ते से निकल सकेगी।  जैसे शताब्दी और राजधानी, दूरंतो आदि। डीआरएम मनोज सिंह ने उम्मीद जताई की जल्द ही कटनी जबलपुर रेलखंड का भी पूर्ण विद्याुतीकरण हो जाएगा।