झूठी खबर से दुखित हुये देशवासी, हम सब पर बना है “अटल” आशीर्वाद

Advertisements

जयपुर। राजस्थान में गुरुवार को पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के निधन की खबर सोशल मीडिया पर वायरल हो गई। जयपुर, जोधपुर समेत प्रदेशभर में कई लोगों ने वाट्सएप ग्रुप्स पर बिना किसी पुष्टि के इस खबर को वायरल कर दिया। कई लोग तो उन्हें श्रद्धांजलि तक देने लग गए। किसी ने भी इस खबर को वायरल करने या कमेंट करने से पहले एक बार भी इसके सच या झूठ होने की बिना जांच के ही एक-दूसरे को मैसेज करने लग गए। कई लोगों ने इतना जरूर कहा कि ये फेक न्यूज है क्योंकि मीडिया में इसकी कोई जानकारी नहीं आई है।
yashbharat


पूरा दिन राज्य में लोग इस खबर को लेकर अफवाहें बनाते रहे। हालांकि यह पहला मौका नहीं है जब अटल जी के निधन की अफवाह उड़ी है। इससे पहले सितंबर 2015 में उड़ीसा के बालासोर जिले के एक प्राइमरी स्कूल में प्रिंसिपल के साथियों ने उन्हें अटल जी के निधन की सूचना दी। प्रिंसिपल ने भी बिना किसी सत्यता को परखे स्कूल में पूर्व पीएम के लिए श्रद्धांजलि सभा रख दी थी। इतना ही नहीं शोक सभा के बाद स्कूल में छुट्टी कर दी गई। जब इसकी खबर फैली तो प्रिंसिपल को निलंबित कर दिया गया था।

इसे भी पढ़ें-  दिल्ली में 2020 में हुए दंगे पूर्व नियोजित साजिश थी, यह पल भर के आवेश में नहीं हुए : हाईकोर्ट

yashbharat

Advertisements