राष्ट्रपति भवन में फर्जी डिग्री से 6 लोगों ने हासिल की नौकरी, खुली पोल

Advertisements

नई दिल्ली। राष्ट्रपति भवन की सुरक्षा में एक बड़ी चूक सामने आई है. राष्ट्रपति सचिवालय को यहां एक साल से ज्यादा समय से काम कर रहे छह ऐसे लोगों की जानकारी मिली है जिन्होंने फर्जी डिग्री दिखाकर नौकरी हासिल की थी.

अंडर सेक्रेटरी रुबीना चौहान ने इस संबंध में पुलिस में शिकायत दर्ज की है. पुलिस ने इस मामले में एफआईआर दर्ज कर लिया है. दिल्ली पुलिस के डिप्टी कमिश्नर और पीआरओ मधुर वर्मा ने बताया, “हम आरोपों की जांच कर रहे हैं. इस मामले में आगे की जांच भी शुरू हो गई है.”

अधिकारियों के मुताबिक छहों आरोपियों ने पिछले साल फरवरी में गार्डनर के तौर पर राष्ट्रपति भवन में काम शुरू किया था. इनका फर्जीवाड़ा सोमवार को सामने आया और मंगलवार को मामला दर्ज किया गया. इस मामले ने राष्ट्रपति भवन की सुरक्षा और यहां होने वाली नियुक्तियों को लेकर सवाल खड़े कर दिए हैं.

इसे भी पढ़ें-  Lokayukta Raid: लोकायुक्‍त टीम ने पंचायत समन्वयक अधिकारी ओमप्रकाश राठौर को रिश्‍वत लेते पकड़ा

छहों आरोपियों की पहचान अमित कुमार, दीपक कुशवाहा, दिलिप कुमार मीणा, पुष्पेंद्र कुमार मीणा, जितेंद्र मीणा और सुरेंद्र कुमार मीणा के रूप में हुई है. ये सभी राजस्थान के रहने वाले हैं.

 पुलिस ने साउथ एवेन्यू पुलिस थाने में धोखाधड़ी का मामला दर्ज किया है. रुबीना चौहान ने बताया, “हमने जनवरी 2017 में ग्रेड 3 कर्मचारियों की भर्ती के लिए सर्कुलर जारी किया था. भर्ती ऑनलाइन प्रक्रिया से हुई. फर्जी डिग्री की जानकारी मिलते ही हमने उन्हें नौकरी से निकाल दिया है.”
Advertisements