जिन सांसदों के फेसबुक लाइक 3 लाख के पार होंगे, उनके क्षेत्र के कार्यकर्ताओं से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग करेंगे PM मोदी

Advertisements

नई दिल्ली। खबर थोड़ी हटके है जी हां फेसबुक पर जो अव्वल होगा उसकी पीठ पर नरेंद्र मोदी का हाथ होगा। खुद प्रधानमंत्री ने भाजपा सांसदों से कहा है कि जिनके फेसबुक लाइक तीन लाख के पार होंगे, उनके क्षेत्र के कार्यकर्ताओं से वह वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये सीधी बात करेंगे।

जाहिर है कि चुनाव से पहले अपने कार्यकर्ताओं मे जोश भरने के लिए सांसदों में सोशल मीडिया में हिस्सेदारी बढ़ाने को कुछ ज्यादा होड़ देखने को मिल सकती है।

सोशल मीडिया भाजपा के अभियान का अहम हिस्सा है। पार्टी की ओर से बार-बार अपने सदस्यों को इसका प्रशिक्षण और उपयोग का सुझाव भी दिया गया है।

इसे भी पढ़ें-  जम्मू-कश्मीर में उरी के नजदीक रामपुर सेक्टर में गुरुवार को भारतीय सुरक्षाबलों ने बड़ी कामयाबी हासिल की. यहां पर सुरक्षाबलों ने तीन आतंकियों को ढेर कर दिया और बड़ी मात्रा में हथियार बरामद किया गया. सेना के अधिकारियों का कहना है कि ये आतंकी हाल ही में पाकिस्‍तान अधिकृत कश्‍मीर (PoK) से भारतीय सीमा में घुसे थे. लेफ्टिनेंट जनरल डीपी पांडेय ने कहा कि गुरुवार को हाथलंगा के जंगलों में घुसपैठ की कोशिश को सुरक्षाबलों ने नाकाम कर दिया. मारे गए आतंकियों में से एक पाकिस्‍तानी है, बाकी के बारे में पता लगाया जा रहा है. आतंकियों के पास से पांच AK-47 राइफल, सात पिस्तौल, 5 एके 47 की मैगजीन, 24 यूबीजीएल ग्रेनेड, 38 चीनी हथगोले, सात पाकिस्तानी ग्रेनेड और 35000 पाकिस्तानी मुद्रा बरामद की गई है.

बल्कि संकेतों में यह भी बताया गया है कि चुनाव में उम्मीदवारी का एक मापदंड यह भी होगा कि वह सोशल मीडिया पर कितना सक्रिय है। अब जब 2019 चुनाव महज एक साल बाद है तो प्रधानमंत्री की ओर से एक पासा फेंका गया है जो नई होड़ शुरू कर सकता है।

बताते हैं कि पिछले शुक्रवार को संसदीय दल की बैठक में प्रजेंटेशन हुआ। प्रधानमंत्री ने पूछा कि कितने सदस्यों के फेसबुक पर तीन लाख से ज्यादा लाइक हैं तो हाथ उठाने वालों की संख्या कम ही थी। उन्होंने कहा कि जिनकी संख्या इसके पार होगी उनके क्षेत्र के कार्यकर्ताओं से वह खुद रूबरू होंगे।

इसे भी पढ़ें-   UP: निषाद पार्टी और अपना दल के साथ चुनाव लड़ेगी भाजपा, गठबंधन का एलान

सूत्रों के अनुसार बड़ी संख्या में भाजपा सांसदों के खिलाफ कार्यकर्ताओं की ही शिकायतें आई हैं। चुनाव से पहले कार्यकर्ताओं को जगाना जरूरी है और इसके लिए प्रधानमंत्री से अच्छा कोई स्टार प्रचारक नहीं मिल सकता है। जिन सांसदों को अपनी उम्मीदवारी बचाने की फिक्र है उनके लिए भी जरूरी है वह ज्यादा से ज्यादा लोगों को अपने साथ जोड़ें।

Advertisements