Advertisements

कांग्रेस ने विधानसभा अध्यक्ष के खिलाफ दिया अविश्वास प्रस्ताव

भोपाल। विधानसभा की कार्यवाही के दौरान कांग्रेस विधायक दल ने विधानसभा अध्यक्ष सीताशरण शर्मा के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव दिया। नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह और डॉ गोविंद सिंह, राम निवास रावत ने विधानसभा अध्यक्ष के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव पेश किया। उन्होंने कहा कि संसदीय कार्य मंत्री के इशारे पर विधानसभा में काम हो रहा है। उनसे निष्पक्षता की उम्मीद की जाती है, लेकिन वे हमेशा विपक्ष की आवाज दबाते हैं। नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह ने तो विधानसभा अध्यक्ष सीतासरण शर्मा को तानाशाह कह दिया। इस पर स्पीकर सीतासरण शर्मा ने कहा कि विपक्ष का आरोप निराधार है, सदन में कानून का पूरा पालन करते हुए कार्यवाही की जाती है।

इसके पहले विधानसभा में प्रीति रघुवंशी आत्महत्या के मामले में हंगामे के चलते कार्रवाई 1 बजे तक के लिए स्थगित कर दी गई थी। कांग्रेस के आरिफ अकील, डॉक्टर गोविंद सिंह, रामनिवास रावत ने स्थगन स्वीकार कर चर्चा कराने का मुद्दा उठाया। इस पर डॉक्टर नरोत्तम मिश्रा ने कहा जब रामपाल सिंह ने लड़की को बहू स्वीकार कर लिया तो फिर अब बचा क्या। कांग्रेस ने प्रीति रघुवंशी के परिजनों को धमकाने का मामला उठाया तो डॉक्टर नरोत्तम मिश्रा बोले कोई थाने में रिपोर्ट डाली गई है कि है क्या यह सत्य बोला जा रहा है?

विपक्ष सदन को राजनीति का अखाड़ा बना रहा है, प्रश्नकाल नहीं चलने दिया जा रहा यह आपत्तिजनक है। विधानसभा अध्यक्ष ने भी कहा विधायकों के विशेषाधिकार का हनन नहीं कर सकते, कई विधायकों ने महत्वपूर्ण प्रश्न लगाए हैं।

प्रश्नकाल के दौरान बसपा की उषा चौधरी ने लिपिक वर्गीय कर्मचारियों को समयमान वेतनमान नहीं मिलने का मुद्दा उठाया। शोरगुल में जब मंत्री जवाब नहीं दे सके तो सामान्य प्रशासन राज्य मंत्री लाल सिंह आर्य ने कहा कि एक अनुसूचित जाति की महिला को सवाल उठाने से रोका जा रहा है, यह एससी की महिला को रोकने का षड्यंत्र है कांग्रेस अनुसूचित जाति विरोधी है।

Loading...