ईपीएफओ में अंशदान करने वालों को जल्द मिलेगा शेयरों में निवेश का फायदा

Advertisements

नई दिल्ली। ईपीएफओ में अंशदान करने वाले लोगों को जल्द ही इक्विटी इंवेस्टमेंट के फायदे मिल सकते हैं। वह सरकार के साथ मिलकर एक पॉलिसी को अंतिम रूप दे रही है, जिससे 15 फीसद निवेश हर महीने आपको यूनिट्स के तौर पर दिए जाएंगे। आप इन्हें प्रॉविडेंट फंड निकालते समय या एग्जिट के समय भुना सकते हैं।

बताया जा रहा है कि ईपीएफओ को शेयरों में निवेश करने से हर साल जो भी डिविडेंड मिलेगा, वह उसे भी 4.5 करोड़ सब्सक्राइबर्स के बीच बांटेगा। माना जा रहा है कि रिटर्न को बढ़ाने के लिए इसे इस्तेमाल किया जा रहा है।

श्रम मंत्रालय इस पॉलिसी को तैयार कर रहा है। अधिकारी ने बताया कि इस पॉलिसी पर संबंधित पक्षों से बातचीत हुई है। सेंट्रल बोर्ड ऑफ ट्रस्टीज (सीबीटी) से इसे मंजूरी मिलने की उम्मीद है, जिसकी बैठक इसी महीने हो रही है।

अधिकारी ने बताया कि जब कोई व्यक्ति पीएफ निकालने का फैसला करेगा, तो कुल निवेश का 85 फीसद उसे ब्याज सहित वापस कर दिया जाएगा। वहीं, इक्विटी में निवेश का 15 फीसद जमा की गई यूनिट्स में उस दिन उसकी वैल्यू से गुणा करके दिया जाएगा।

सब्सक्राइबर यदि चाहे, तो वह इक्विटी इन्वेस्टमेंट विदड्रॉल को दो साल तक रोक भी सकता है। यह इस पर निर्भर करेगा कि सीबीटी कितने साल तक यह ऑप्शन देता है। वित्त मंत्रालय ने पहले ईपीएफओ के लिए एक नए इंवेस्टमेंट पैटर्न को मंजूरी दी थी।

इससे 5 से 15 फीसद तक फंड इक्विटी या इक्विटी लिंक्ड स्कीम्स में पैसे लगाने का रास्ता साफ हुआ था। इसके बाद अगस्त 2015 से ईपीएफओ ने 5 फीसद डिपॉजिट को ईटीएफ में लगाना शुरू किया।

Advertisements