जुगियाकाप के जंगल में मिली महिला की लाश

Advertisements

कटनी। बड़वारा थाना क्षेत्र के अंतर्गत ग्राम जुगियाकाप के जंगल में कल दोपहर एक महिला की क्षत विक्षत लाश बरामद की गई। महिला पिछले तीन चार दिनों से लापता थी, जिसकी गुमशुदगी की रिपोर्ट पुलिस में दर्ज कराई गई थी।

मानसिक रूप से बीमार होने के बाद हो गई थी लापता

उसकी मौत कैसे हुई, यह अभी तक पता नहीं चल सका है। पुलिस ने मौके से लाश बरामद कर पोस्टमार्टम कराकर परिजनों को सौंप दी है और मर्ग दर्ज करते हुए जांच शुरू कर दी है।

इस संबंध में पुलिस सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार सोमवार की सुबह बड़वारा वन परिक्षेत्र के जुगियाकाप के जंगल में एक महिला की क्षत विक्षत लाश पड़ी होने की सूचना पुलिस को मिली। जिस पर थाना प्रभारी बी डी द्विवेदी एवं एफएसएल टीम व चिकित्सक डा. सिसोदिया घटना स्थल पर पहुंचे।

पुलिस ने शव का पंचनामा कराते हुए शव को पीएम के लिए भेज घटना के कारणों की जांच कर दी है। पुलिस के अनुसार जंगल के अंदर से उठ रही बदबू की जानकारी ग्रामीणों को लगी थी। ग्रामीणों द्वारा पुलिस को सूचित किया गया था।

पुलिस ने जब घटनास्थल में पहुंचकर देखा तो एक महिला की क्षत विक्षत लाश जंगल के अंदर पड़ी थी। लाश संभवतः तीन से चार दिन पुरानी थी। उसके शरीर के निचले हिस्से को जंगली जानवरों ने नोचकर खा लिया था। इस घटना की सूचना पर बड़ी संख्या में ग्रामीण भी पहुंच गए थे। मृतका की शिनाख्त ग्राम धौड़ी निवासी लक्ष्मीबाई पति नरेन्द्र गौड़ उम्र 30 वर्ष के रूप में की गई है।

इस संबंध में पुलिस ने बताया कि मृतका लक्ष्मीबाई विगत 15 फरवरी से लापता थी। महिला के पति नरेन्द्र द्वारा काफी तलाश करने के बाद उसकी गुमशुदगी की शिकायत थाने में 16 फरवरी को दर्ज कराई थी। इस संबंध में परिजनों ने पुलिस को बताया कि लक्ष्मीबाई मानसिक रूप से अस्वस्थ थी। अवसर वह बिना कहीं भी चली जाती है और लौट आती थी। बीमारी के चलते उसका पुत्र नाना नानी के पास रहता था।

Advertisements